Oxford Vaccine News Update: कोरोना वायरस के खिलाफ जारी जंग में एक उम्मीद भरी खबर आ रही है. ब्रिटेन के ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय द्वारा विकसित की जा रही वैक्सीन Oxford-AstraZeneca के इस साल के अंत तक भारतीयों को मिलने की संभावना जताई जा रही है. ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय का यह वैक्सीन दुनिया में अभी तक का सबसे उन्नत वैक्सीन माना जा रहा है. Also Read - दिल्ली में कोरोना संकट: पिछले पांच दिनों में हर दिन 30-40 मौतें हुईं, मृत्यु दर 2.04 प्रतिशत

टाइम्स ऑफ इंडिया ने इस बारे में एक स्टोरी प्रकाशित की है. इसके मुताबिक भारत में Oxford-AstraZeneca वैक्सीन का इंसानों पर ट्रायल चल रहा है. सबकी नजर इस ट्रायल पर टिकी है. जानकारों का कहना है कि अगर ट्रायल के नतीजे सकारात्मक आते हैं तो इस वैक्सीन को इस साल के अंत तक बाजार में लाया जा सकता है. Also Read - India Covid-19 Updates: देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 54 लाख के पार, अब तक 86 हजार से ज्यादा की जा चुकी है जान....

भारत में ही विकसित किए गए दो अन्य वैक्सीन का भी ह्यूमन ट्रायल चल रहा है. Also Read - Corona Cases in Chhattisgarh: छत्तीसगढ़ में 2,617 और लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि, 19 लोगों की हुई मौत

रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि अगर इस वैक्सीन को मंजूरी मिलती है और इसका भारत में उत्पादन किया जाता है तभी इसका इस्तेमाल कारगर होगा.

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की इस वैक्सीन का ह्यूमन ट्रायल करने के लिए पुणे के Serum Institute ने ब्रिटिश फार्मा कंपनी AstraZeneca के साथ करार किया है. Serum Institute ने वैक्सीन का एडवांस फेज यानी दूसरे और तीसरे चरण का ट्रायल शुरू कर दिया है. इसे देश के 17 सेलेक्टेड स्थानों पर 18 से अधिक उम्र के 1600 लोगों को दिया जा रहा है.

इसके अलावा Bharat Biotech की Covaxin और Zydus Cadila की Zycov D भी एडवांस स्टेज में हैं. Covaxin को ICMR को मिलकर विकसित किया है.