नई दिल्ली. कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने दावोस में निवेशकों को आकर्षित करने के प्रधानमंत्री के प्रयासों को लेकर उन पर हमला बोलते हुए कहा कि जिस दिन प्रधानमंत्री ने विश्व व्यापार को भारत में आमंत्रित किया, उसी दिन अहमदाबाद में भीड़ द्वारा हिंसा की गई और उत्तर प्रदेश में नैतिक पहरेदारी का मामला सामने आया. Also Read - पीएम मोदी के Lockdown वाले भाषण ने तोड़े पिछले रिकॉर्ड, जानेंं कितने करोड़ लोगों ने देखा

Padmavaati Row: No impact of Karni Sena’s Bandh in Gujarat | पद्मावत विवाद: गुजरात में करणी सेना के बंद का खास असर नहीं

Padmavaati Row: No impact of Karni Sena’s Bandh in Gujarat | पद्मावत विवाद: गुजरात में करणी सेना के बंद का खास असर नहीं

चिदंबरम ने विभिन्न ट्वीट में कहा कि प्रधानमंत्री ने दावोस में विश्व आर्थिंक मंच की सालाना शिखर बैठक में जिस दिन निवेश को आमंत्रित किया, उसी दिन उत्तर प्रदेश में सार्वजिनक स्थलों पर मौजूद छह जोड़ों के खिलाफ एंटी रोमियो दस्ते ने छह मामले दर्ज किए. Also Read - PM मोदी ने कहा, RBI की घोषणाएं अर्थव्यवस्था को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाएंगी

उन्होंने ट्वीट कर कहा, जिस दिन प्रधानमंत्री ने भारत में विश्व व्यापार को भारत में निवेश के लिए आमंत्रित किया, उसी दिन अहमदाबाद में भीड़ द्वारा हिंसा की गई. क्रुद्ध लोगों द्वारा यह हिंसा पद्मावत फिल्म के विरोध में की गयी थी. पूर्व वित्त एवं गृह मंत्री ने यह भी कहा कि उसी दिन मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने अपने कनिष्ठ मंत्री सत्यपाल सिंह को डार्विन के क्रमिक विकास के सिद्धान्त को गलत बताने को लेकर खिंचाई की थी. Also Read - सोनिया गांधी ने पीएम का समर्थन किया, कहा- लॉकडाउन सही लेकिन किसानों-छोटे कारोबारियों को राहत दे सरकार