ठाणे. पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने कहा है कि भारतीय अर्थव्यवस्था ऐसी कार की तरह हो गई है जिसकी तीन टायरें पंक्चर हैं. उन्होंने पेट्रोल-डीजल सहित अन्य चीजों की बढ़ती कीमतों पर भी मोदी सरकार को आड़े हाथ लिया. Also Read - India’s GDP Latest News: भारतीय अर्थव्यवस्था पर कोरोना संकट बरकरार, दूसरी तिमाही में GDP में -7.5% की ग्रोथ

कांग्रेस की महाराष्ट्र इकाई की ओर से आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए चिदंबरम ने कहा, ‘‘निजी निवेश, निजी उपभोग, निर्यात और सरकारी खर्च किसी अर्थव्यवस्था के चार वृद्धि इंजन (ग्रोथ इंजन) हैं. यह किसी कार की चार टायरों की तरह है. यदि एक या दो टायरें पंक्चर हों तो गाड़ी धीमी पड़ जाती है, लेकिन हमारे यहां तो तीन टायरें पंक्चर हो चुकी हैं.’’ उन्होंने कहा कि सरकारी खर्च सिर्फ स्वास्थ्य देखभाल एवं कुछ अन्य सुविधाओं में जारी है. Also Read - इंटरव्यू: चिदंबरम ने कहा- BJP देश में निरंकुशता और नियंत्रण युग वापस लाएगी, देश पीछे जाएगा

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘इस खर्च को बनाए रखने के लिए सरकार ने पेट्रोल, डीजल और यहां तक कि एलपीजी (रसोई गैस) पर भी कर लगाना जारी रखा है. यह उन करों के नाम पर लोगों से धन वसूली कर रही है और इनमें से कुछ पैसे जनसुविधाओं पर खर्च कर रही है.’’उन्होंने सवाल किया कि क्या आपने हाल में बिजली के क्षेत्र में कोई निवेश देखा है. पूर्व वित्त मंत्री ने वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के ‘‘पांच स्लैब’’ के लिए भी मोदी सरकार की आलोचना की. Also Read - Indian Economy News: भारतीय अर्थव्यवस्था ने उम्मीद से अधिक जोरदार तरीके से की वापसीः आरबीआई गवर्नर