नई दिल्ली: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने भाजपा अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा के ‘राजीव गांधी फाउंडेशन (आरजीएफ) से जुड़े आरोपों को लेकर शनिवार को पलटवार किया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सवाल किया कि क्या आरजीएफ द्वारा चीन को पैसा लौटा देने से लद्दाख में चीनी सेना का अतिक्रमण खत्म हो जाएगा और पूर्व की यथास्थिति बहाल हो जाएगी.Also Read - IND vs WI: West Indies की ODI टीम का ऐलान, 29 महीनों बाद Kemar Roach की वापसी

चिदंबर ट्वीट किया, ”भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा अर्धसत्य बोलने में माहिर हैं. मेरे सहयोगी रणदीप सुरजेवाला ने कल उनकी आधी सच्चाई उजागर की.” Also Read - Uttarakhand News: भाजपा में शामिल हुए कांग्रेस से निष्कासित पूर्व अध्यक्ष किशोर उपाध्याय, टिहरी से चुनाव लड़ने की अटकलें

पूर्व गृह मंत्री ने सवाल किया, ‘‘आरजीएफ को 15 साल पहले मिले अनुदान का मोदी सरकार के तहत 2020 में चीन के भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ करने से क्या लेनादेना है? मान लीजिए कि आरजीएफ 20 लाख रुपये लौटा देती है, तो क्या प्रधानमंत्री (नरेन्द्र) मोदी देश को भरोसा दिलाएंगे कि चीन अपना अतिक्रमण खाली करेगा और पूर्व की यथास्थिति बहाल करेगा?” Also Read - Panjab Assembly Election 2022: आज पंजाब दौरे पर राहुल गांधी, मंदिर-गुरुद्वारों में मत्था टेकने के बाद 3 बजे वर्चुअल रैली

कांग्रेस के सीनियर नेता चिदंबर उन्होंने कहा, ”नड्डा जी, वास्तविकता के धरातल पर आइए, अर्धसत्य वाले अतीत में मत रहिए. कृपया भारतीय क्षेत्र में चीनी घुसपैठ पर हमारे सवालों के जवाब दीजिए.” बता दें कि भाजपा अध्यक्ष नड्डा ने आरोप लगाया है कि 2005 में आरजीएफ को चीनी दूतावास से पैसे मिले थे.

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने भाजपा पर चीनी घुसपैठ से ध्यान भटकाने का आरोप लगाया और कहा कि दिव्यांगों के कल्याण एवं भारत-चीन संबंधों पर शोध के लिए आरजीएफ को यह अनुदान मिला था और रिटर्न फाइल करने के दौरान इसका उल्लेख किया गया था.