नई दिल्ली: प्रमोद कुमार मिश्रा को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नया प्रधान सचिव नियुक्त किया गया है, जबकि पूर्व कैबिनेट सचिव प्रदीप कुमार सिन्हा को नया प्रधान सलाहकार बनाया गया है. यह जानकारी सरकार की ओर से बुधवार को दी गई. प्रमोद कुमार मिश्रा नृपेंद्र मिश्रा का स्थान लेंगे, जिन्होंने हाल में अपना पद छोड़ा था.

एक आधिकारिक बयान में बताया गया कि गुजरात काडर के 1972 बैच के सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी मिश्रा (71) ने अपनी यह नई जिम्मेदारी बुधवार को संभाल ली. मिश्रा प्रधानमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव थे और उन्हें कैबिनेट मंत्री का दर्जा प्राप्त था.

एक सरकारी आदेश में कहा गया कि पूर्व कैबिनेट सचिव पी.के. सिन्हा (64) 11 सितंबर से प्रधानमंत्री के प्रधान सलाहार होंगे, जिन्हें गत महीने प्रधानमंत्री कार्यालय में विशेष कार्य अधिकारी (ओएसडी) नियुक्ति किया गया था.

2014 से 2019 के बीच प्रधानमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव के तौर पर कार्य करने वाले प्रमोद कुमार मिश्रा को मानव संसाधन प्रबंधन में नवोन्मेषी परिवर्तन, विशेष तौर पर वरिष्ठ पदों पर नियुक्ति का श्रेय दिया जाता है. उन्हें कृषि, आपदा प्रबंधन, ऊर्जा क्षेत्र, आधारभूत वित्तपोषण और नियामक मुद्दों से जुड़े कार्यक्रमों के प्रबंधन में कार्य का व्यापक अनुभव है.

उन्‍हें नीतियां बनाने और प्रशासन का व्यापक अनुभव है और उन्होंने कई प्रमुख जिम्मेदारियों निभायी हैं, जिसमें प्रधानमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव, सचिव कृषि एवं सहयोग, राज्य ऊर्जा नियामक आयोग का अध्यक्ष. साथ ही उन्हें आपदा प्रबंधन के क्षेत्र में भी कार्य का अनुभव है.

सिन्हा ने 13 जून 2015 से 30 अगस्त 2019 तक कैबिनेट सचिव के तौर पर कार्य किया है. इससे पहले वह ऊर्जा सचिव, सचिव, जहाजरानी और भारत सरकार के पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस के विशेष सचिव के तौर पर भी कार्य कर चुके हैं. 30 अगस्त को सिन्हा को प्रधानमंत्री द्वारा विशेष कार्य अधिकारी नियुक्त किया गया था.

सिन्हा उत्तर प्रदेश काडर के 1977 बैच के आईएएस अधिकारी हैं. उन्होंने सेंट स्टीफेंस कॉलेज से अर्थशास्त्र में स्नातक किया और अपनी स्नातकोत्तर की पढ़ाई दिल्ली स्कूल आफ इकोनॉमिक्स से पूरी की.