नई दिल्लीः एक बार फिर से पाकिस्तान के झूठ के से पर्दा उठ गया है. वह दुनिया के सामने पूरी तरह से बेनकाब हो गया है. पाकिस्तान ने में झूठ फैलाते हुए कहा था कि भारत द्वारा पाकिस्तान में किसी भी तरह की एयर स्ट्राइक नहीं हुई है और पाकिस्तान को कोई नुकसान नहीं हुआ है. अब खुद पाकिस्तान ने इस बात के सबूत दे दिए हैं कि भारत ने 27 फरवरी को पाकिस्तान में एयर स्ट्राइक की थी और इसमें उसके कई जवान भी मारे गए. पाकिस्तान ने भारतीय वायुसेना की एयर स्ट्राइक में मारे गए अपने पायलटों के लिए स्मारक बनवाया है जिससे एक बार फिर से उसकी पोल खुल गई है.

पाक ने आतंकवाद को नहीं रोका तो उसके टुकड़े होने से कोई नहीं रोक सकता: राजनाथ

हालांकि बनवाए गए स्मारकों में पाकिस्तान ने अपने पायलटों के नाम नहीं लिखे हैं. यही नहीं पाकिस्तान यहां भी झूठ फैलाने में पीछे नहीं हटा, उसने इन स्मारकों में एमरॉम मिसाइल (AMRAAM Missile) से सुखोई (Sukhoi) को मार गिराने की बात कही है. भारत ने इस पर कड़ा विरोध जताते हुए एस पाकिस्तान का प्रोपेगैंडा बताया है. मेमोरियल में लिखा गया है कि सुखोई-30 MKI को PAF F-16 उड़ा रहे स्क्वाड्रन लीडर हसन महमूद सिद्दकी ने एआईएम-120 एमरॉम बीवीआर मिसाइल का इस्तेमाल कर उसे गिरा दिया था. जबकि सच यह है कि पाकिस्तान जिस मिसाइल की बात कर रहा है उसे सिर्फ F-16 से ही चलाया जा सकता है.

पाकिस्तान ने LOC के पास दिखाए सफेद झंडे, मारे गए जवानों के शव उठाए, देखें VIDEO

इसके साथ ही पड़ोसी देश ने इस मेमोरियल में मिग-21 बाइसन को भी एमरॉम से निशाना बनाने की बात कही है. लेकिन सच्चाई यह है कि अभिनंदन ने पाकिस्तान के एफ 16 विमान को मार गिराया था जिसकी पाकिस्तान ने पुष्टि भी की थी. आपको बता दें कि 14 फरवरी को जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकवादी हमले में लगभग 40 जवान शहीद हो गए थे. बाद में इसकी जिम्मेदारी जैश ए मोहम्मद ने ली थी. भारत ने 27 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट समेत जैश-ए-मोहम्मद के कई ठिकानों को निशाना बनाकर हमला करके इसका बदला लिया था.

इस एयर स्ट्राइक में भारत के विंग कमांडर अभिनंदन ने पाकिस्तान के फाइटर जेट को नौशेरा में मार गिराया था, हालांकि इसमें उनका भी विमान क्रैश हो गया था और वे पीओके में जा गिरे थे. इसके बाद भारत सरकार 48 घंटों के अंदर अभिनंदन को सकुशल भारत वापस ले आई थी.