Pakistan, China, terrorism, indian Army, Army Chief, LAC, Latest news : आर्मी चीफ जनरल एमएम नरवणे (General Manoj Mukund Naravane) ने कहा है कि पाकिस्तान (Pakistan) लगातार आतंकवाद का इस्तेमाल राजकीय नीति के औजार के रूप में करता आ रहा है. हमारा बहुत स्पष्ट रुख है कि हम आतंकवाद को बर्दाश्त नहीं करेंगे. हम सीमापार आतंकवाद का मुफीद वक्त पर जवाब देने का अधिकार रखते हैं. आर्मी चीफ ने ये भी कहा, पाकिस्तान और चीन मिलकर एक शक्तिशाली खतरा बनाते हैं और मिलीभगत की आशंका को दूर नहीं किया जा सकता है. लेकिन भारतीय सेना देश के सामने आने वाले हर खतरे से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है. Also Read - Army Day 2021: आर्मी चीफ का चीन को स्पष्ट संदेश, कहा- भारतीय सेना के धैर्य की परीक्षा न ले कोई देश, हम...

आर्मी चीफ ने कहा, पाकिस्तान आतंकवाद को लगातार गले लगाए हुए है. हम आतंकवाद के प्रति जीरो टॉलरेंस रखते हैं. हम अपना जवाब देने के लिए सही वक्‍त और जगह चुनने का अधिकार रखते हैं. यह एक स्पष्ट संदेश है जिसे हमने भेजा है. हमारा वार अचूक होगा. Also Read - Army Day 2021: BJP ने सेना दिवस के अवसर पर साझा किया बेहतरीन वीडियो, दिखा जवानों का पराक्रम

आर्मी चीफ ने कहा, पिछले साल हमने कई मौकों पर चुनौतियों का डटकर मुकाबला किया है. सेना प्रमुख नरवणे ने यह बात मंगलवार को आर्मी डे पर संबोधित करते हुए कही है.

मुफीद वक्त पर जवाब देने का अधिकार रखते हैं
जनरल नरवणे ने कहा, पाकिस्तान लगातार आतंकवाद का इस्तेमाल राजकीय नीति के औजार के रूप में करता आ रहा है. आर्मी डे पर सेना प्रमुख ने कहा, हम सीमापार आतंकवाद का मुफीद वक्त पर जवाब देने का अधिकार रखते हैं.

चुनौतियों का सामना करना था. हमने ऐसा ही किया और शीर्ष पर आ गए
सेना प्रमुख नरवणे ने पिछला साल चुनौतियों से भरा था और हमें इस बात पर चलना था और चुनौतियों का सामना करना था. हमने ऐसा ही किया और शीर्ष पर आ गए. मुख्य चुनौती COVID19 और उत्तरी सीमाओं की स्थिति थी.

पाकिस्तान और चीन मिलकर एक शक्तिशाली खतरा
आर्मी चीफ ने कहा, पाकिस्तान और चीन मिलकर एक शक्तिशाली खतरा बनाते हैं और मिलीभगत की आशंका को दूर नहीं किया जा सकता है. सेना प्रमुख ने पूर्वी लद्दाख में जारी तनाव पर कहा, हम किसी भी स्थिति से निपटने को तैयार हैं, हमारी अभियान संबंधी तैयारियां बहुत उच्च स्तर की हैं.

हर खतरे से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है, हम आतंकवाद को बर्दाश्त नहीं करेंगे
जनरल नरवणे ने सेना दिवस के मौके प्रेस कॉन्‍फ्रेंस के दौरान मीडिया‍कर्मियों से कहा, भारतीय सेना देश के सामने आने वाले हर खतरे से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है. हमारा बहुत स्पष्ट रुख है कि हम आतंकवाद को बर्दाश्त नहीं करेंगे.

प्रौद्योगिकी-सक्षम सेना विकसित करने का रोड मैप तैयार 
जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने कहा, भविष्य की चुनौतियों का सामना करने के लिए एक प्रौद्योगिकी-सक्षम सेना विकसित करने के लिए सभी नई तकनीकों को लाने के लिए एक व्यापक रोडमैप तैयार किया गया है.

दो-मोर्चे का खतरा, निपटने के लिए रहना होगा तैयार
सेना प्रमुख ने कहा, चीन और पाकिस्तान के बीच सैन्य और गैर-सैन्य दोनों क्षेत्रों में सहयोग बढ़ा है. दो-मोर्चे का खतरा कुछ ऐसा है, जिससे निपटने के लिए हमें तैयार रहना चाहिए.

हम इस मुद्दे को हल करने में सक्षम होंगे
आर्मी चीफ ने कहा, भारत और चीन के बीच वार्ता का उपयोग आपसी और समान सुरक्षा के आधार पर मुद्दों की चर्चा के लिए किया जाएगा. मुझे विश्वास है कि हम इस मुद्दे को हल करने में सक्षम होंगे.

जो स्थिति है हम उस पर डंटे रहेंगे
सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे ने कहा, हमें सरकार से निर्देश मिले हैं कि जो स्थिति है हम उस पर डंटे रहेंगे. अलग-अलग स्तर पर जो बातचीत चल रही है, उसके जरिए हम आपसी और समान सुरक्षा के आधार पर जो भी समझौता करना है करेंगे. मुझे विश्वास है की इस बातचीत के जरिए हम अपने लक्ष्य को हासिल कर पाएंगे.