श्रीनगर: जम्मू एवं कश्मीर के राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर पाकिस्तान द्वारा संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए रविवार को की गई गोलीबारी में एक भारतीय जवान शहीद हो गया. सेना ने कहा कि संघर्ष विराम का उल्लंघन नौसेरा सेक्टर में किया गया और कहा कि हमारे जवानों ने दुश्मनों की गोलीबारी का करारा जवाब दिया है.Also Read - CDS Bipin Rawat Death: पाक आर्मी के शीर्ष अफसरों ने जनरल बिपिन रावत की मौत पर किए ट्वीट

इस घटना में नायब सूबेदार राजविंदर सिंह गंभीर रूप से घायल हो गए और बाद में उन्होंने अंतिम सांस ली. Also Read - पाकिस्तानी सेना ने इस क्षेत्र में 450 गोले दागे थे, लेकिन इस देवी मंदिर को खरोंच तक नहीं आई थी

पिछले कुछ दिनों में पाकिस्तान की ओर से संघर्ष विराम का लगातार उल्लंघन किया जा रहा है जिसका जवाब भारतीय सेना मुस्तैदी से दे रही है. इससे पहले शनिवार को सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने जम्मू में भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा पर बाड़बंदी के पास एक सुरंग का पता लगाया है. अधिकारियों ने शनिवार को बताया कि इसके साथ ही बल ने भारत में घुसपैठ करने की कोशिश कर रहे आतंकवादी समूहों और मादक पदार्थों की तस्करी करने वाले गिरोह के मंसूबों को नाकाम कर दिया है. Also Read - जम्मू कश्मीर के नौशेरा में जवानों संग PM मोदी की दिवाली, कहा- 'आपके भरोसे ही देश के लोग चैन की नींद सोते हैं'

उन्होंने बताया कि हाल में बीएसएफ की कमान संभालने वाले महानिदेशक राकेश अस्थाना ने सीमा पर तैनात कमांडरों को यह सुनिश्चित करने का दिशानिर्देश दिया है कि कि सीमा पर घुसपैठ रोधी प्रणाली प्रभावी रहे और वहां कोई खामी नहीं रहे. नियमित गश्त के दौरान जम्मू के सांबा सेक्टर बीएसएफ के जवानों तब संदेह हुआ, जब उन्होंने बारिश के बाद खेतों में कुछ जगहों पर मिट्टी धंसी हुई देखी.