इस्लामाबाद/ जम्‍मू: भारत ने पाकिस्‍तान को उसकी नापाक फायरिंग का मुंहतोड़ जवाब दिया है. सूत्रों के मुताबिक भारतीय सेना ने जवाबी गोलाबारी में पाकिस्‍तान के कई सैनिक मार गिरए हैं, लेकिन पाकिस्‍तान अपने मारे गए सैनिकों की संख्‍या को कम बता रहा. इसके बावजूद भी उसे मानना पड़ा है कि उसके तीन सैनिक मारे गए हैं. मंगलवार को पाक कहा कि नियंत्रण रेखा पर भारत की ओर से बिना उकसावे की गोलीबारी में उसके तीन सैनिक मारे गए हैं. पाकिस्‍तान  सैन्य प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने एक बयान में कहा कि रावलकोट सेक्टर के रखचिकरी क्षेत्र में नियंत्रण रेखा के पास भारतीय सैनिकों ने बिना उकसावे की गोलीबारी की. उन्होंने बताया कि इसमें तीन सैनिक मारे गए.

पाकिस्‍तान आर्म्‍ड फोर्सेस आईएसपीआर ने एक प्रेस रिलीज मंगलवार को जारी करके कहा है कि भारतीय सेना की एलओसी से लगे इलाके राकचक्री, रावलकोट में फायरिंग में उनके तीन सैनिक मारे गए हैं. वहीं, भारतीय सेना के सूत्रों का कहना है कि पाकिस्‍तानी सेना आंकड़ों को छिपा रही है. भारतीय सेना की फायरिंग में पाकिस्‍तान को भारी नुकसान हुआ है. सूत्रों का कहना है कि पाकिस्‍तान की ओर मौतों का आंकड़ा पाक के आधिकारिक बयान के तीन से ज्‍यादा है.

गफूर ने कहा कि पाकिस्तान सेना ने भी इसका जवाब दिया. इस बीच, डॉन’ की खबर के मुताबिक ‘पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर’ के प्रधानमंत्री राजा फारूक हैदर ने सोमवार को कहा कि उनकी सरकार ने आपात स्थिति में नियंत्रण रेखा (एलओसी) के साथ अत्यधिक संवेदनशील क्षेत्रों से लोगों को हटाने की योजना तैयार कर ली है.

बता दें कि मंगलवार को पुंछ में एलओसी पर पाकिस्तानी गोलाबारी में बीएसएफ अधिकारी शहीद, बच्ची समेत दो की मौत हो गई थी. जम्मू कश्मीर के पुंछ जिले में एलओसी पर पाकिस्तानी सेना की ओर से सोमवार को की गई भारी गोलाबारी में बीएसएफ के एक इंस्पेक्टर शहीद हो गए और पांच साल की बच्ची समेत दो व्यक्तियों की मौत हो गई. इसमें अन्य 24 लोग घायल हो गए. अधिकारियों ने बताया कि इसके बाद भारतीय सेना ने भी अपनी तरफ से मुंहतोड़ जवाब दिया.

छह घर भी गोलाबारी की चपेट में आ गए और कई क्षतिग्रस्त हो गए. इसके अलावा कुछ मवेशी भी जख्मी हुए हैं. पाकिस्तान ने पुंछ की बलोनी पट्टी के असैन्य इलाकों में मंगलवार रात मोर्टार से भारी गोलाबारी की, जिसमें साजिदा बी नाम की महिला की मौत हो गई और पांच अन्य जख्मी हो गए.

पाकिस्तान ने पुंछ एवं राजौरी जिलों में लगातार चौथे दिन संघर्षविराम का उल्लंघन जारी रखते हुए सोमवार को पुंछ सेक्टर की अग्रिम चौकी पर गोले दागे थे, जिससे बीएसएफ की 168 बटालियन के इंस्पेक्टर टी एलेक्स लालमिनलुम समेत पांच कर्मी घायल हो गए थे. बीएसएफ इंस्पेक्टर ने बाद में दम तोड़ दिया था, जबकि बीएसएफ के अन्य घायल कर्मियों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. उन्होंने बताया कि घायल सैनिक खतरे से बाहर हैं.

बता दें कि सोमवार दोपहर में शाहपुर उप सेक्टर के एक गांव में एक घर के नजदीक एक गोला गिरने से सोबिया (पांच) की मौत हो गई थी और दो अन्य घायल हो गए थे. पाकिस्तानी गोलाबारी में दो महिलाओं समेत 12 आम नागरिक घायल हो गए. कृष्णाघाटी सेक्टर में सेना का एक जवान भी जख्मी हुआ था. सभी घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया.

नियंत्रण रेखा के पास अग्रिम इलाकों में जिन गांवों को पाकिस्तान ने निशाना बनाया उनमें धोकरी, बनवात, बांदी चेचियां, कस्बा, दिगवार, गुंतारियां, शाहपुर, केरनी कृष्णा घाटी, मनकोटे, गुलपुर शामिल थे. पाकिस्तान ने पुंछ में नियंत्रण रेखा पर असैन्य क्षेत्रों को भारी हथियारों और मोर्टार बमों से निशाना बनाया. स्थानीय लोगों में दहशत का माहौल है. पाकिस्तान की तरफ से जारी गोलाबारी के बीच लोगों को घरों के अंदर रहने की सलाह दी गई. एहतियात के तौर पर गोलाबारी प्रभावित क्षेत्रों में सभी विद्यालय बंद कर दिए गए.