तिरुवनंतपुरम: कुथालुपुझा में पाकिस्तान निर्मित 14 गोलियां मिलने के मामले की जांच में एनआईए की मदद के लिए सैन्य खुफिया विभाग की टीम केरल पहुंची. ये गोलियां यहां से 70 किलोमीटर की दूरी पर स्थित तमिलनाडु के जंगलों की सीमा पर स्थित कुथालुपुझा में मिली थीं. गोलियां एक प्लास्टिक बैग में बंद थीं और कोलम के मलयाली अखबार में लिपटी हुई थीं. Also Read - अब विदेश मंत्रालय प्रवक्ता होंगे अनुराग श्रीवास्तव, इस देश में रह चुके हैं भारत के राजदूत

बाइक सवार दो लोगों ने संदिग्ध पैकेट को देखा, जिसके बाद उन्होंने पैकेट को खोला तो उसमें उन्हें गोलियां दिखीं. उन्होंने तुरंत पुलिस को सूचना दी. पुलिस के अनुसार, गोलियों पर पीओएफ का चिह्न था, जिसे प्रारंभिक तौर पर पाकिस्तान ऑर्डनेंस फैक्ट्री के प्रतीक-चिह्न् के तौर पर देखा जा रहा है. माना जा रहा है कि इसका निर्माण साल 1981-82 में हुआ है. Also Read - Coronavirus, Lockdown: रोड पर भूखे वाहन चालकों को खिला रहे खाना ये दो ड्राइवर

राज्य पुलिस प्रमुख लोकनाथ बेहरा ने क्राइम ब्रांच को मामले की जांच करने के लिए कहा. सैन्य खुफिया विभाग के साथ अधिकारी शहर में आ चुके हैं, हालांकि राष्ट्रीय जांच एजेंसी द्वारा जांच जल्द शुरू किए जाने की उम्मीद है. Also Read - उत्तरी कश्मीर में मुठभेड़ में पांच आतंकी ढेर, पांच भारतीय जवान भी हुए शहीद

(इनपुट आईएएनएस)