नई दिल्ली: जम्मू एवं कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 को खत्म करने से पाकिस्तान बौखला गया है. पाकिस्‍तान ने समझौता एक्‍सप्रेस रेल सेवा को रोक दिया है. साथ ही पाकिस्तान ने अपने ट्रेन ड्राइवर और गार्ड को भी समझौता एक्सप्रेस के साथ भेजने से मना कर दिया. अटारी रेलवे स्टेशन में सूचना भेजकर अपना ड्राइवर और क्रू मेंबर भेजने को कहा. जानकारी के मुताबिक, इस दौरान करीब तीन घंटे तक समझौता एक्सप्रेस के यात्री वाघा बॉर्डर पर फंसे रहे. जानकारी के मुताबिक, लगभग तीन घंटे के बाद, ट्रेन अब अटारी के रास्ते में है और भारतीय चालक दल ही ट्रेन लेकर आ रहा है.

 

जानकारी के मुताबिक, अटारी अंतरराष्ट्रीय रेलवे स्टेशन के सुपरिंटेंडेंट अरविंद कुमार गुप्ता ने बताया कि आज पाकिस्तान से समझौता एक्सप्रेस को भारत आना था, लेकिन इस दौरान पाकिस्तान से मैसेज भेजा गया कि भारतीय रेल अपने ड्राइवर और क्रू मेंबर को भेजकर समझौता एक्सप्रेस को ले जाए. बता दें जम्मू एवं कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 को खत्म करने से भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ने के बाद इस्लामाबाद ने भारतीय विमानों के लिए नौ वायुमार्गो में से तीन मार्ग बंद कर दिए हैं. इस वर्ष दूसरी बार लिए गए कदम से राष्ट्रीय विमानन कंपनी एयर इंडिया की यूरोप, अमेरिका और मध्य एशिया समेत अन्य स्थानों पर जाने वाली उड़ानें प्रभावित होंगी.

50 उड़ानों की यात्रा का समय बढ़ जाएगा
लगभग 50 उड़ानों की यात्रा का समय लगभग 10 से 15 मिनट बढ़ जाएगा. एयर इंडिया के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि हम जिन लंबी दूरी की यात्राओं के लिए प्रमुख मार्गो का उपयोग करते हैं, वे अभी भी खुले हुए हैं, और हमें जानकारी मिली है कि शेष वायुमार्गो को भी बंद किया जाएगा. उन्होंने कहा कि इसका बड़ा असर होगा क्योंकि पाकिस्तान के वायुमार्ग का इस्तेमाल करने वाली हमारी बहुत बड़ी उड़ानों का समय 2-3 घंटों तक बढ़ जाएगा. प्रमुख विमानन कंपनी को इससे पहले भी पाकिस्तान द्वारा अपना वायुमार्ग बंद करने के कारण 430 करोड़ का बड़ा नुकसान हुआ था. भारतीय वायु सेना द्वारा फरवरी में बालाकोट में एयर स्ट्राइक करने के बाद पाकिस्तान ने यह कदम उठाया था.