चंडीगढ़: पाकिस्तान द्वारा पानी छोड़े जाने के बाद सतलुज नदी के तट का एक बड़ा हिस्सा बह जाने से पंजाब के फिरोजपुर जिले में कई गांवों को बाढ़ के खतरे का सामना करना पड़ रहा है. अधिकारियों ने रविवार को बताया कि फिरोजपुर जिला प्रशासन हाई अलर्ट पर है तथा एहतियात के तौर पर राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) और सेना की टीम तैनात की गई हैं. पंजाब सरकार के प्रवक्ता ने कहा, ‘‘पाकिस्तान ने बड़ी मात्रा में पानी छोड़ा है जिससे तेंदिवाला गांव में तट को नुकसान हुआ है और कुछ गांवों में बाढ़ का खतरा है.’’

भारत ने सतलुज और अलची नदी में छोड़ा पानी, पाकिस्तान में बाढ़ का अलर्ट जारी

उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन ने सतलुज नदी के किनारे अत्यधिक संवेदनशील गांवों से एहतियात के तौर पर लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने की घोषणा की है. इसके साथ ही स्वास्थ्य विभाग, खाद्य एवं आपूर्ति तथा अनय विभागों की विभिन्न टीमों को भी तैयार रखा गया है. उल्लेखनीय है कि कुछ दिन पहले भी पाकिस्तान द्वारा पानी छोड़े जाने पर फिरोजपुर जिले के 17 गांवों में बाढ़ आ गई थी.

इससे पहले भारत भी पाकिस्तान की ओर इस नदी में पानी छोड़ चुका है. इससे वहां भी बाढ़ का खतरा उत्पन्न हो चुका है. कुछ दिन पहले पाकिस्तान के पंजाब और खैबर पख्तूनख्वा प्रांतों के अधिकारियों ने सतलुज और अलची बांध में पानी छोड़े जाने के बाद बाढ़ से संबंधित अलर्ट जारी किया था. डॉन न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, पंजाब के प्रांतीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (पीडीएमए) ने भारत द्वारा नदी में पानी छोड़े जाने के बाद सतलुज में बढ़ते जलस्तर के कारण बाढ़ का अलर्ट जारी किया था.