जम्मू. जम्मू-कश्मीर के अरनिया सेक्टर में पाकिस्तानी रेंजरों ने एक बार फिर संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए कई स्थानों पर सीमा चौकियों पर मोर्टार से गोले दागे. अंतरराष्ट्रीय सीमा पर तैनात बीएसएफ के जवानों ने जवाबी कार्रवाई की. सीमा सुरक्षा बल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पाकिस्तानी जवानों ने जम्मू के अरनिया सेक्टर में सुबह करीब सात बजे से मोर्टार से गोले दागने शुरू किए और ताजा रिपोर्ट मिलने तक गोलाबारी जारी थी.

उन्होंने कहा, ‘‘पाकिस्तानी रेंजरों ने तीन सीमा चौकियों पर हमला किया. वहां तैनात जवान भी इसका मुंह तोड़ जवाब दे रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘‘गोलाबारी में तत्काल किसी के हताहत होने की कोई जानकारी नहीं है. ’’

सांबा जिले के रामगढ़ सेक्टर के नारायणपुर इलाके में रविवार-सोमवार की दरमियानी रात पाकिस्तानी जवानों ने छोटे हथियारों और मोर्टार से बीएसएफ की अग्रिम चौकियों को निशाना बनाया था. इसके कुछ घंटे पहले उसने बीएसएफ से गोलीबारी रोकने की अपील की थी क्योंकि बीएसएफ की कार्रवाई में सीमा पार एक जवान की मौत हो गई थी. बीएसएफ ने 19 सेकंड का एक थर्मल इमैजिनरी फुटेज भी जारी किया था जिसमें बिना उकसावे के सीमा के उस ओर से गोलीबारी होने के बाद भारत की जवाबी कार्रवाई में एक पाकिस्तानी चौकी ध्वस्त नजर नजर आ रही है.

अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पाकिस्तान की ओर से 15 मई से अब तक बिना किसी उकसावे के हुई गोलीबारी में बीएसएफ के दो जवान शहीद हो चुके हैं. जम्मू में गत शुक्रवार को हुई गोलीबारी में चार लोगों की मौत हो गई थी और 11 अन्य घायल हो गए थे.

बता दें कि जम्मू कश्मीर में इस साल अंतरराष्ट्रीय सीमा और नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तान की ओर से गोलीबारी और गोलेबारी की घटनाएं बढ़ी हैं. सीमा पार से गोलीबारी और गोलेबारी की 700 से अधिक घटनाओं में 18 सुरक्षा कर्मियों सहित 38 लोग मारे गए तथा कई घायल हुए हैं.