नई दिल्लीः गुरु नानक देव की 550वी जयंती के अवसर पर करतारपुर कॉरीडोर का उद्घाटन 9 नवंबर को होने वाला है. पाकिस्तान ने इस अवसर पर भारत समेत कई देशों से लोगों को इसके लिए निमंत्रण दिया है. पाकिस्तान ने इस बात की घोषणा की थी कि इसमें शामिल होने वाले भारतीय श्रद्धालुओं को किसी भी तरह का शुल्क नहीं देना होगा. अब सूत्रों से ऐसी खबरे सामने आ रही है जिसमें यह कहा जा रहा कि पाकिस्तान उद्घाटन वाले दिन भारतीय श्रदधालुओं से शुल्क लेगा. बताया जा रहा है कि शनिवार को करतारपुर गलियारे से गुजरने वाले लोगों को भी 20 डॉलर का शुल्क देना होगा.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने गत सप्ताह एलान किया था कि कोरिडोर के उद्घाटन वाले दिन गुरु नानक देव की 550वीं जयंती पर श्रद्धालुओं से कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा. करतारपुर गलियारा भारत के पंजाब में डेरा बाबा नानक गुरुद्वारे को पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में अंतरराष्ट्रीय सीमा से महज चार किलोमीटर दूर करतारपुर में स्थित दरबार साहिब से जोड़ेगा.

करतारपुर उद्घाटन समारोह में जाने से श्री श्री रविशंकर ने किया इनकार, पाक ने दिया था निमंत्रण

कश्मीर को लेकर द्विपक्षीय संबंधों में तनाव के बावजूद पाकिस्तान और भारत ने एक समझौते पर हस्ताक्षर करते हुए सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव की 12 नवंबर को 550वीं जयंती के मद्देनजर नौ नवंबर को करतारपुर गलियारे के उद्घाटन का मार्ग प्रशस्त किया. इस समझौते के तहत हर दिन 5,000 भारतीय श्रद्धालु गुरुद्वारा दरबार साहिब में दर्शन कर सकेंगे जहां गुरु नानक ने अपने जीवन के अंतिम 18 साल बिताए थे. प्रत्येक श्रद्धालु को शुल्क के तौर पर 20 डॉलर देने होंगे. हालांकि भारत ने पाकिस्तान से भारतीय श्रद्धालुओं से शुल्क न लेने का अनुरोध किया है.