नई दिल्ली: पाकिस्तान के एफ-16 के पायलटों ने 40-50 किमी की दूरी से 4 से 5 अमेरिकी एम्राम मिसाइलें भारतीय लड़ाकू विमानों सुखोई-30 और मिग-21 बाइसन पर दागे थे. न्यूज एजेंसी एएनआई ने यह दावा किया है. एजेंसी की खबर के मुताबिक इससे पाकिस्तान का यह दावा करना की उसने एफ-16 लड़ाकू विमान का इस्तेमाल नहीं किया था, झूठा साबित होता है. बता दें कि 26 फरवरी को भारत के मिराज-2000 लड़ाकू विमानों ने बालाकोट के आतंकी ठिकानों पर कार्रवाई की थी. इसके बाद 27 फरवरी को पाकिस्तान के 3 एफ-16 भारतीय सीमा में घुस आए थे, जिसमें से एक को मिग-21 बाइसन ने मार गिराया था.

पाकिस्तान का दावा है कि उसने 27 फरवरी की कार्रवाई में एफ-16 लड़ाकू विमान का इस्तेमाल नहीं किया था. पाकिस्तान के दावे को बेनकाब करने के लिए भारतीय सेना जमीन पर उन संभावित क्षेत्रों की खोज कर रही है जहां एम्राम मिसाइल का मलबा गिरा हो सकता है. सूत्रों के मुताबिक- एफ-16 ने 50 किमी दूर से चार से पांच एम्राम मिसाइलें भारतीय विमानों पर दागे. हालांकि इन सभी का निशाना चूक गया. सूत्रों ने बताया कि एम्राम मिसाइलें जो कि निशाना चूकने के बाद हमारी सीमा में गिरीं उनके और पार्ट मिलने के बाद हम पाकिस्तान के झूठ को बेनकाब कर देंगे.

दूसरी ओर भारत के साथ हालिया टकराव में पाकिस्तान द्वारा एफ-16 लड़ाकू विमान इस्तेमाल करने के मामले की अमेरिका करीबी जांच कर रहा है. अमेरिकी विदेश विभाग के उप प्रवक्ता रॉबर्ट पैलाडिनो ने यह जानकारी दी. पैलाडिनो ने मंगलवार को वाशिंगटन में विभाग की प्रेस ब्रीफिंग में पत्रकारों को बताया, हमने उन रिपोटरें को देखा है और हम उस मुद्दे की बारीकी से जांच कर रहे हैं और हम इस पर नजर बनाए रखेंगे. उन्होंने हालांकि कहा कि वह कुछ भी पुष्टि नहीं कर सकते क्योंकि यह “नीतिगत मामले के तहत हम सार्वजनिक रूप से द्विपक्षीय समझौतों के विषय पर टिप्पणी नहीं करते हैं.

पैलाडिनो ने कहा, “हम पाकिस्तान से आतंकवादियों को पनाह न देने और उन तक वित्तपोषण की पहुंच को रोकने की संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की प्रतिबद्धताओं का पालन करने की बात दोहराते हैं. उन्होंने कहा कि अमेरिका, भारत और पाकिस्तान में दूतावासों के माध्यम से चल रही उच्च-स्तरीय बातचीत के अलावा तनाव कम करने के लिए वाशिंगटन और भारत और इस्लामाबाद के बीच निजी कूटनीतिक प्रयास भी हो रहे हैं. वहीं, एयर वाइस मार्शल आर.जी.के. कपूर ने गुरुवार को नई दिल्ली में कहा था कि पाकिस्तान ने पिछले बुधवार को कश्मीर सीमा में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर एफ-16, थंडर और मिराज लड़ाकू विमानों को भेजा था और भारतीय वायु सेना ने एफ-16 को मार गिराया था.