जम्मू: पाकिस्तानी सैनिकों ने संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए जम्मू कश्मीर के पुंछ और कठुआ जिलों में नियंत्रण रेखा (एलओसी) और अंतरराष्ट्रीय सीमा (आईबी) के पास तीन सेक्टरों में गांवों तथा अग्रिम चौकियों पर बिना उकसावे के गोलियां चलाईं और गोले दागे. अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी.Also Read - कब बहाल होगा जम्मू कश्मीर का राज्य का दर्जा? भाजपा बोली- पहले चुन कर की जा रही हत्याएं बंद हों

अधिकारियों ने बताया कि पुंछ में एलओसी के पास मनकोट और दिगवार सेक्टरों में शनिवार को मोर्टार के गोले दागे गए,वहीं हीरानगर सेक्टर में शुक्रवार और शनिवार की दरम्यानी रात सीमापार से गोलीबारी रातभर चली. उन्होंने बताया कि इस गोलीबारी से भारतीय पक्ष में किसी के हताहत होने की खबर नहीं है. Also Read - Jharkhand: कश्मीरी युवकों पर हमला, धार्मिक नारे दोहराने का दबाव बनाया, कई हिरासत में

एक रक्षा प्रवक्ता ने कहा, ‘‘पाकिस्तान ने संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए देर रात करीब 2:30 बजे एलओसी पर मनकोट सेक्टर में गोलियां चलाईं और मोर्टार के गोले दागे. सेना ने इसका समुचित जबाव दिया.’’ अधिकारियों ने बताया कि दोनों ओर से गोलीबारी और गोलाबारी सुबह करीब चार बजे बंद हुई. Also Read - Gautam Gambhir को ISIS Kashmir नाम से मिली जान से मारने की धमकी, पुलिस ने सुरक्षा बढ़ाई

दिन में बाद में, प्रवक्ता ने कहा कि पाकिस्तान की सेना ने शाम करीब 5.45 बजे पुंछ के दिगवार सेक्टर को छोटे हथियारों और मोर्टार से निशाना बनाया. भारतीय सेना ने प्रभावी ढंग से जवाबी कार्रवाई की और अंतिम खबर प्राप्त होने पर दोनों पक्षों के बीच सीमा पार से गोलीबारी रुक-रुक कर जारी थी.

अधिकारियों ने बताया कि पाकिस्तानी रेंजरों ने शुक्रवार रात करीब 10 बजे करोल कृष्ण, सतपाल और गुरनाम में सीमा चौकियों पर गोलियां चलाईं, जिसका सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने तत्काल समुचित जवाब दिया.

उन्होंने कहा कि दोनों ओर से गोलीबारी सुबह पांच बजकर दस मिनट तक जारी रही. गोलीबारी से सीमाई इलाकों में रहने वालों के बीच भय व्याप्त हो गया और उन्होंने रात भूमिगत बंकरों में गुजारी.