जम्मू: जम्मू- कश्मीर में सांबा जिले की अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पाकिस्तानी रेंजर्स की गोलीबारी मंगलवार को भी जारी है.
पाक रेंजर्स अरनिया, आरएस पुरा और रामगढ़ सेक्‍टर में गोलाबारी कर रहे हैं. पुलिस का कहना है कि पाकिस्तानी रेंजर्स की गोलीबारी से बीएसएफ की 30 सुरक्षा चौकियां और लगभग दो दर्जन गांव प्रभावित हुए हैं. बीएसएफ पाकिस्तानी गोलाबारी का माकूल जवाब दे रही है. पुलिस अधिकारी ने कहा, “लोगों से स्थिति सामान्य होने तक घरों के भीतर रहने को कहा गया है. अंतरराष्ट्रीय के आसपास के सभी स्कूलों को बंद कर दिया गया है.”
कई क्षेत्रों तक फैली फायरिंग
अधिकारी ने कहा कि पाकिस्तानी रेजंर्स बिना किसी उकसावे के आर.एस.पुरा और रामगढ़ सेक्टरों में अंधाधुंध गोलीबारी कर रहे हैं. यह गोलीबारी अरनिया में सोमवार को शाम लगभग सात बजे शुरू हुई थी और बाद में दो और सेक्टर तक बढ़ गई. उन्होंने कहा, “बीएसएफ बड़ी ही मुस्तैदी ही इस गोलीबारी का जवाब दे रहे हैं.” Also Read - जम्मू कश्मीर में आतंकवादियों के हमले में बीएसएफ के दो जवान शहीद

मवेशियों को नुकसान कई घर नष्ट
पाकिस्तान की ओर से किए गए संघर्षविराम  केे  उल्लंघन से मवेशियों को नुकसान पहुंचा है और कई घर नष्ट हो गए हैं. पाकिस्तान रेंजर्स ने अरनिया कस्बे में मोर्टार के गोले बरसाए जिनमें से एक पुलिस थाने पर गिरा जिससे उसकी दीवार और बाहर खड़े कुछ वाहन क्षतिग्रस्त हो गए.

पहले गोलाबारी रोकने की थी अपील, बाद में पलटा
पाकिस्तान की ओर से ये गोलाबारी बीएसएफ से गोलीबारी रोकने की अपील करने के एक दिन बाद शुरू हुई. सोमवर को बीएसएफ की कार्रवाई में उनका एक जवान मारा गया था. जिसके बाद उन्होंने यह अपील की थी. लेकिन इसे बाद पाकिस्तान की ओर से फिर फायरिंग शुरू कर दी गई.

आठ माह के बच्चे की मौत
बता दें कि शनिवार को सीमापार से चली एक गोली में आठ माह का बच्चा घायल हो गया था, जिसने सोमवार को दम तोड़ दिया. अरनिया सेक्टर में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पाकिस्तान की गोलीबारी में एक विशेष पुलिस अधिकारी (एसपीओ) सहित छह लोग घायल हो गए हैं. इससे पहले जम्मू जिले में दो दिन पहले पाकिस्तान की गोलीबारी में बीएसएफ के एक जवान और चार आम नागरिकों की मौत हो गई थी.

महबूबा मुफ्ती ने बताया दुर्भाग्यपूर्ण
जम्मू – कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने शनिवार के गोलीबारी में प्रभावित हुए कुछ लोगों से मिलीं और घटनाओं को दुर्भाग्यपूर्ण बताया था. उन्होंने कहा कि गोलीबारी ऐसे समय में हुई जब रमजान का महीना शुरू ही हुआ और राज्य के लोगों ने पाक महीने में राज्य में सुरक्षा संबंधी अभियानों पर एकतरफा रोक की केंद्र सरकार की घोषणा के बाद राहत की सांस ली थी. केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा कि रमजान के पाक महीने में लोगों की जान लेकर पाकिस्तान ने पाक महीने का अनादर किया है. (इनपुट-एजेंसी)