Palghar Mob Lynching: महाराष्ट्र के पालघर में दो साधुओं के भीड़ द्वारा की गयी हत्या के बाद कई बड़े नेताओं के बयान आ रहे हैं. अब उमा भारती ने भी इस पर कड़ी नाराजगी व्यक्त की है. Also Read - मंत्री रहते हुए मैं गंगा और उसकी मुख्य सहायक नदियों पर पनबिजली परियोजना के खिलाफ थी: उमा भारती

भाजपा पहले ही इस हिंसा की उच्चस्तरीय जांच की मांग कर चुकी है. भाजपा नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने महाराष्ट्र के सीएम को पत्र लिखा है. पत्र में उमा भारती ने पालघर की घटना में शामिल लोगों के खिलाफ सख्त करवाई की मांग की है. Also Read - भोपाल में इन इलाकों के बदल सकते हैं नाम, उमा भारती और सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने उठाई मांग

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को लिखे पत्र में उमा भारती ने कहा है, “आप महान पिता की संतान हैं, आप स्वयं साधु-संतों का सम्मान करते हैं. लेकिन पालघर में भीड़ ने जिस तरह दो असहाय साधुओं की हत्या की है, वह धर्म की दृष्टि से पाप है. यह हत्या आपके राज्य में हुई है. पुलिस की मौजूदगी में हुई है. लिहाजा मैं आपसे अनुरोध करती हूं कि इस जघन्य हत्याकांड में शामिल दोषी लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए. साथ ही मौके पर मौजूद पुलिसकर्मी जो निस्सहाय साधु-संतों को बचाने की बजाय भीड़ को सौंप दी थी, उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जाए.” Also Read - Palghar mob lynching case: कोर्ट ने गिरफ्तार 89 लोगों को जमानत दी, बताई ये वजह

गौरतलब है कि पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती इस हत्याकांड के विरोध में मंगलवार यानि आज से भोपाल में एक दिन का उपवास रख रही हैं. उन्होंने सभी साधु संतों से भी अपील की है कि आज एक दिन का उपवास रखें.

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में उन्होंने कहा है कि देशभर में लागू प्रतिबंध के खत्म होने के बाद वह खुद पालघर में उस स्थान पर जाएंगे जहां साधुओं की निर्मम हत्या हुई है.

ध्यान रहे कि महाराष्ट्र के पालघर के गड़चिनचले गांव में बीते दिनों दो साधुओं और उनके ड्राइवर की पीट-पीटकर निर्मम हत्या कर दी गयी थी. यह पूरी घटना वहां मौजूद कुछ पुलिसकर्मियों के सामने हुई.
आरोपियों ने साधुओं के साथ एक ड्राइवर और पुलिसकर्मियों पर भी हमला किया. हमले के बाद साधुओं को अस्पताल ले जाया गया जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया.

पुलिस ने कार्रवाई कर 110 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. इलाके में पुलिस के दो अधिकारियों को भी सस्पेंड कर दिया गया है.
(एजेंसी से इनपुट)