नई दिल्ली: भारत और चीन सीमा पर एक बार फिर तनाव बढ़ रहा है. दोनों देशों के विदेश मंत्रियों के बीच बीते कल मॉस्कों में बैठक हुई थी. इसी दौरान चीनी सेना LAC पर अपनी ताकत बढ़ाने में जुटी हुई थी. इस दौरान चीन की हरकतों को देखते हुए भारतीय सेना भी पूरी तैयार है. भारतीय सेना ने 155 मिमी होवित्जर तोपों की तैनाती पैंगोंग लेक के इलाके में कर दी है. बता दें कि इससे पहले टैंक और एयरफोर्स को ही डिप्लॉय किया गया था. लेकिन तोपों की तैनाती यह दर्शाती है कि सीमा पर स्थिति कितनी तनावपूर्ण है. Also Read - डोकलाम विवाद के बाद डरा चीन! LAC पर अपने हवाई रक्षा ठिकानों, हेलीपोर्ट की संख्या दोगुनी की

LAC पर चीनी सैनिकों को माकूल जवाब देने के लिए भारतीय सेना के 40 हजार जवान तैनात हैं. साथ ही वायुसेना भी 24 घंटे अलर्ट मोड में हैं. ऐसे में होवित्जर तोपों को अब सीमा पर भेजा जा रहा है. ऐसे में अगर चीन कोई गुस्ताखी करता है तो उसे अंजाम भुगतना पड़ सकता है. बता दें कि भारतीय जवान अब फिंगर 4 पर कब्जा कर चुके हैं. जोकि रणनीतिक रूप से एक अहम लोकेशन है. Also Read - लद्दाख में भारतीय सेना का कारनामा, 6 नई चोटियों पर किया कब्जा, चीन की हालत पस्त

भारतीय सेना के दबदबे को देखते हुए और मंसूबों में कामयाब न हो पाने के कारण चीनी सरकार और चीनी सैनिकों का मनोबल डगमगा रहा है. ऐसे में वह बार बार घुसपैठ करने की कोशिश कर रहे हैं. हालांकि इस दौरान भी भारतीय सेना अपने साहस और पराक्रम का परिचय देते हुए विनम्रता से भी काम ले रही है. बता दें कि मॉस्कों में चीनी विदेश मंत्री वांग यी से भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर की मुलाकात भी हुई थी. इस दौरान जयशंकर ने चीन सरकार को उनकी सेना को नियंत्रित करने को कहा साथ ही बातचीत के जरिए मामला सुलझाने की बात की. Also Read - पहली बार सीमा पर राफेल ने भरी उड़ान, चीन की हर चाल पर भारतीय सेना की पैनी नजर