पणजी: कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर और पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की बीमारी की गोपनीयता में कोई तुलना नहीं की जा सकती. उन्होंने कहा कि पर्रिकर एक राज्य के मुख्यमंत्री हैं, सोनिया गांधी जब बीमार हुई थीं, वह न प्रधानमंत्री थीं और न ही कोई मंत्री थीं. सुरजेवाला ने कहा कि जब उन्हें बीमारी हुई, सोनिया गांधी न भारत की प्रधानमंत्री थीं, और न मंत्रिमंडल की सदस्य ही.’ Also Read - कांग्रेस ने सामूहिक पलायन पर सरकार से पूछे सवाल, कहा- गरीबों की जिंदगी मायने रखती है या नहीं

सुरजेवाला उस प्रश्न का जवाब दे रहे थे, जिसमें उनसे पूछा गया था कि कांग्रेस पर्रिकर के स्वास्थ्य की स्थिति के बारे में मेडिकल बुलेटिन जारी करने की मांग कर रही है. क्या पार्टी तब भी पारदर्शी रहेगी, जब उनसे सोनिया गांधी की लंबी बीमारी की जानकारी मांगी जाएगी, जब वह कांग्रेस अध्यक्ष और राष्ट्रीय सलाहकार परिषद की अध्यक्ष थीं, जिसका गठन तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को सलाह देने के लिए किया गया था. सुरजेवाला ने कहा कि जो सत्ता में होते हैं, खासकर राज्य के प्रमुख के पद पर होते हैं, उन्हें जनहित में अपनी बीमारी की प्रकृति के बारे में खुलासा करना चाहिए. Also Read - केजरीवाल ने लोगों को गीता पाठ करने की दी सलाह, कहा- गीता के 18 अध्याय की तरह लॉकडाउन के बचे हैं 18 दिन 

एम्स से डिस्चार्ज होने के बाद गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर की पहली तस्वीर आई सामने Also Read - यूपी: रायबरेली में सोनिया गांधी के 'लापता' होने के लगे पोस्टर, संसदीय क्षेत्र से बाहर होने पर उठे सवाल

सुरजेवाला ने कहा कि मुझे पांच बीमारियां हो सकती हैं. उदाहरण के लिए मुझे उच्च रक्तचाप है और मैं इसके लिए दवाइयां लेता हूं, लेकिन मैंने आज तक इसका खुलासा नहीं किया था. इसका मतलब यह नहीं है कि चूंकि मैं लोगों के बीच हूं तो मुझे सारी समस्याओं के बारे में बताना है. यह तब होता है जब आप किसी पद पर हैं और वह पद राज्य प्रमुख का हो.’ पर्रिकर एडवांस पैंक्रियाटिक कैंसर से जूझ रहे हैं और करीब नौ महीनों तक उनका गोवा, मुंबई, न्यूयॉर्क और दिल्ली के अस्पतालों में इलाज चला है.