मुंबईः भाजपा नेता पंकजा मुंडे ने बुधवार को कहा कि महाराष्ट्र चुनाव में कुछ नेताओं को टिकट नहीं देने का फैसला राज्य स्तर पर लिया गया और देवेन्द्र फडणवीस को चुनाव में पार्टी के प्रदर्शन की जिम्मेदारी लेनी चाहिये. पूर्व मुख्यमंत्री फडणवीस ने पहले कहा था कि उनके कुछ सहयोगियों को टिकट नहीं देने का निर्णय पार्टी की केंद्रीय समिति ने लिया गया था.

मुंडे ने बातचीत में कहा, “टिकट न देने का फैसला दिल्ली में नहीं बल्कि यहां महाराष्ट्र में लिया गया। पार्टी का जैसा भी प्रदर्शन रहा, देवेन्द्र फडणवीस को उसकी जिम्मेदारी लेनी चाहिये.” महाराष्ट्र के बीड़ जिले में भाजपा की ‘नाराज’ नेता पंकजा मुंडे ने अपने दिवंगत पिता गोपीनाथ मुंडे की याद में गुरुवार को बुलाई गई सभा बुलाई थी.

नागरिकता विधेयक को लेकर फडणवीस ने साधा शिवसेना पर निशाना, कहा- तरस आता है इन पर

इस सभा में उन्होंने जो बैनर तैयार किया था उसमें न तो पार्टी का प्रतीक चिन्ह था और न ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फोटो थी. इसके बाद फिर उनके और पार्टी के रिश्‍तों को लेकर नई अटकलबाजी शुरू हो गई है. हालांकि इससे पहले कई बार पूर्व मंत्री पंकजा ने स्पष्ट किया है कि वह भाजपा नहीं छोड़ रहीं. सभी की निगाहें आज होने वाले कार्यक्रम पर टिकी हैं. उम्मीद है कि पंकजा कोई बड़ी घोषणा कर सकती हैं.

बता दें अक्टूबर में हुए महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में पंकजा मुंडे को बीड़ जिले की परली विधानसभा सीट पर अपने चचेरे भाई और एनसीपी उम्मीदवार धनंजय मुंडे के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था. तब से उनकी भविष्य की योजना को लेकर अटकलें लगाई जा रही हैं.