नई दिल्ली: माता-पिता, दादा-दादी एवं शिक्षकों को डिजिटलसेवी बनाने के लिए माउंट लिटेरा जी स्कूल ने डिजिटल जागरूकता रैली की पहल की है. इसके तहत 15 दिसंबर तक अभियान चलाया जाएगा. इस मुहिम के तहत अलग-अलग विस्तृत विषयों, जैसे साइबर बुलीईंग, फिशिंग, ई-कॉमर्स, नेट बैंकिंग, बिजली, पानी और हाउस टैक्स के ई-पेमेंट से लेकर मोबाइल इंटरनेट बिल तक कवर किया जाएगा. माउंट लिटेरा जी स्कूल्स के बिजनेस हेड सुमित मिश्रा ने कहा कि इस रैली के तहत स्टूडेंट्स, पैरंट्स, दादा-दादी और शिक्षकों की भागीदारी के साथ ही अखिल भारतीय इंटर स्कूल प्रतियोगिता होगी. इसके साथ ही योग, रैली, स्किट्स, क्विज प्रतियोगिता और सिग्नेचर वॉल जैसी गतिविधियां होंगी.

Exit Poll Live: महा एक्जिट पोल में मध्य प्रदेश में BJP सबसे बड़ी पार्टी, राजस्थान में कांग्रेस की सरकार, छत्तीसगढ़ में कड़ी टक्कर

मिश्रा ने कहा कि चेन माउंट लिटेरा जी स्कूल्स कुछ महत्वपूर्ण पहलों की मदद से राष्ट्रव्यापी डिजिटल साक्षरता दिवस मना रहा है. 120 स्कूल सामुदायिक पहुंच के विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन करेंगे, जिससे न सिर्फ स्टूडेंट्स, उनके माता-पिता, दादी-दादी और शिक्षक जुड़ेंगे, बल्कि वह तीन पीढ़ियों के डिजिटल अंतर को कम करेगी और उन्हें डिजिटलसेवी बनाएगी. स्टूडेंट्स के पास अपने माता-पिता और दादा-दादी के सामने ‘डिजिटल लिटरेसी सत्र’ पेश करने का दुर्लभ मौका होगा.

विधानसभा चुनावः जानिए किस राज्य में कितनी सीटें जीतकर मिलेगा बहुमत, कौन सी पार्टी बनाएगी सरकार

उन्होंने कहा, “यह छात्रों में रचनात्मकता और कल्पनाशीलता का कौशल विकसित करने की हमारी कोशिश है. इस बार हमने बेहद प्रासंगिक विषय-डिजिटल लिया है, लेकिन हम केवल स्टूडेंट्स तक ही रुकना नहीं चाहते, हम चाहते हैं कि उनका पूरा परिवार इसमें शामिल हों. हमने खुद से पूछा कि हम पैरंट्स को कैसे डिजिटल पैरंटिंग स्किल के संबंध में जागरूक कर सकते हैं या कैसे हम बच्चों के दादा-दादी को आगे ला सकते हैं और उन्हें अपने पोते-पोतियों के बराबर डिजिटल रूप से जागरूक बना सकते हैं. डिजिटल जागरूकता काफी विस्तृत विषय है और इसलिए हमने दो हफ्ते लंबा कार्यक्रम बनाया है, जिसमें विभिन्न भागीदारों और डिजिटल टेक्नोलॉजी के विभिन्न आयामों को शामिल किया जाएगा.