संसद के शीतकालीन सत्र का आज आखिरी दिन है। नोटबंदी, अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकाप्टर सौदा और कुछ अन्य मुद्दों को लेकर सरकार और विपक्ष के बीच गतिरोध जारी रहने के कारण पूरा सत्र हंगामे की भेंट चढ़ गया है। आज भी लोकसभा में हंगामे के चलते कार्यवाही 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई है वहीं हंगामे के चलते राज्यसभा को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया।

सत्र की शुरुआत में लगभग 15 बिल पेश किए जाने की उम्मीद थी लेकिन सिर्फ दो बिल पेश किए जा सके हैं। राज्यसभा से पारित किए जा चुके डिसेब्लिटी बिल को आज लोकसभा से पास किया जा सकता है। आपको बता दें कि पूरे सत्र के दौरान विपक्ष लगातार मांग करता रहा कि नोटबंदी पर पीएम मोदी खुद संसद में बयान दें, जबकि सत्ता पक्ष ने विपक्ष पर चर्चा से भागने और संसद की कार्यवाही न चलने देने का आरोप लगाया।
यह भी पढ़ें: दिल्लीः लिफ्ट देने के बहाने युवती को बिठाया और लग्ज़री कार में ही किया बलात्कार

सदन में विपक्ष ने जहां नोटबंदी का मुद्दा उठाया वहीं सरकार ने अगस्ता घूसकांड का मुद्दा उठाया। इन दोनों ही मुद्दों पर लोकसभा और राज्यसभा में हंगामा होता रहा। सरकार ने कहा कि विपक्ष और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी खुद सदन में चर्चा करने से भाग रहे हैं।

गौरतलब है कि किसानों के कर्ज माफी और मुफ्त बिजली की मांग के लिए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने अन्य नेताओं के साथ पीएम मोदी से मुलाकात की। 2 करोड़ किसानों के हस्ताक्षर वाला ज्ञापन सौपां और कर्ज माफी की मांग की।