भुवनेश्वर: ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने स्पष्ट दिया कि बीजू जनता दल आगामी चुनाव में भाजपा और कांग्रेस दोनों के साथ कोई गठबंधन नहीं करेगा और न ही किसी महागठबंधन में शामिल होगा. बीजद अध्यक्ष पटनायक ने बुधवार को भुवनेश्वर में एक बैठक के बाद मीडियाकर्मियों से कहा कि उनकी पार्टी ”भाजपा और कांग्रेस दोनों के साथ समान दूरी बनाए रखने की नीति पर चलती रहेगी.” पटनायक ने कहा, मैं स्पष्ट करना चाहता हूं कि जहां तक महागठबंधन की बात है, तो बीजू जनता दल उसका हिस्सा नहीं है. Also Read - केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले ने कहा- कमलनाथ ने दलितों का अपमान किया, पार्टी से निकाले कांग्रेस

Also Read - भाजपा विधायक ने दिए बगावत के संकेत, बोले- येदियुरप्पा लंबे समय तक मुख्यमंत्री नहीं रहेंगे

ममता बनर्जी को बड़ा झटका, टीएमसी सांसद सौमित्र खान ने बीजेपी ज्वाइन की Also Read - राहुल गांधी की नाराजगी को भी कमलनाथ ने नहीं दी 'तवज्जो', 'आइटम' वाले बयान पर माफी मांगने से इनकार

मुख्यमंत्री का बयान इस मायने में अहम है कि अनेक गैर-भाजपा दल लोकसभा चुनाव में भाजपा के खिलाफ एक महागठबंधन बनाने के लिए प्रयासरत हैं. पटनायक ने एक दिन पहले दिल्ली के अपने दौरे के दौरान कहा था कि उनकी पार्टी को महागठबंधन में शिरकत पर फैसला करने के लिए समय चाहिए. उन्होंने कहा था, ”हम कुछ समय लेंगे और इस (महागठबंधन में शिरकत) के बारे में सोचेंगे.”

महिला कलेक्टर ने बेटी को पढ़ने भेजा आंगनवाड़ी केंद्र, चारोंं ओर हो रही प्रशंसा

बता दें कि ओडिशा में सत्तारूढ़ बीजद का एक दशक से ज्यादा समय तक भाजपा के साथ गठबंधन था. बीजद-भाजपा का यह गठबंधन 2000 से 2009 तक राज्य में सत्तारूढ़ रहा. बीजद ने 2009 में चुनाव के मौके पर भाजपा के साथ अपना गठबंधन खत्म कर लिया था. इसके बाद से बीजद लगातार भाजपा और कांग्रेस से दूरी बनाए हुए है.

नीतीश कुमार ने महागठबंधन पर उठाए सवाल तो भड़के लालू ने कह डाले ऐसे अपशब्द… 

इस बीच, भाजपा ने बीजद पर कांग्रेस के साथ किसी समझौते में शामिल होने का आरोप लगाया है. इसके जवाब में कांग्रेस ने बीजद पर भाजपा के साथ होने के आरोप लगाए हैं. बता दें कि राज्यसभा के उपाध्यक्ष पद के चुनाव में बीजद सांसदों ने राजग उम्मीदवार हरिवंश नारायण सिंह के पक्ष में मतदान किया था.

ट्रेड यूनियनों की हड़ताल का दूसरा दिन, कहीं मिला बम तो कहीं रोकी गईं ट्रेनेें