नई दिल्ली: चीन में नोवेल कोराना वायरस से होने वाले संक्रमण के मद्देनजर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने एहतियाती उपाय के तौर पर, पड़ोसी देश से आने वाले यात्रियों की दिल्ली, मुंबई और कोलकाता हवाई अड्डों पर थर्मल स्कैनर से जांच करने का निर्देश दिया है. सरकार ने एक यात्रा परामर्श भी जारी किया है और चीन की यात्रा करने वाले नागरिकों को कुछ एहतियाती उपायों का पालन करने के लिए कहा है. इसमें कहा गया है कि 11 जनवरी तक चीन में नोवेल कोरोना वायरस से संक्रमण के 41 मामलों की पुष्टि हुयी है और इससे एक व्यक्ति की मौत भी हो गई है. Also Read - China Defense Budget 2021: चीन का रक्षा बजट पहली बार 200 अरब डॉलर के पार, भारत से तीन गुना ज्‍यादा

स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण सचिव प्रीति सूदन ने कहा कि डब्‍ल्‍यूएचओ के साथ विचारविमर्श कर स्थिति की निगरानी की जा रही है. स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री हर्षवर्धन ने शुक्रवार को देश में लोक स्वास्थ्य तैयारियों का जायजा लिया. मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि पर्याप्‍त एहतियात के तौर पर स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने दिल्‍ली, मुम्‍बई तथा कोलकाता हवाई अड्डों पर चीन से आने वाले अंतर्राष्‍ट्रीय यात्रियों की थर्मल स्‍कैनर के जरिये जांच करने का निर्देश दिया है. नागर विमानन मंत्रालय के सहयोग से विमानों में इस संबंध में घोषणाएं की जा रही हैं. Also Read - अमेरिकी कंपनी का बड़ा दावा, 'लद्दाख में सैन्य संघर्ष के बाद चीनी हैकरों ने मुंबई में किया था ब्लैकआउट'

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने प्रयोगशाला जांच, निगरानी, संक्रमण रोकथाम तथा नियंत्रण आदि से सम्‍बन्धित लोगों को आवश्‍यक निर्देश जारी किया है. सामुदायिक निगरानी के लिए एकीकृत बीमारी निगरानी कार्यक्रम बनाया गया है. एनआईवी पुणे और आईसीएमआर प्रयोगशाला देश में नोवेल कोरोना वायरस के लिए नमूने की जांच में समन्‍वय कर रहे हैं. Also Read - चीन में मोबाइल इंटरनेट उपयोगकर्ताओं की संख्या 100 करोड़ के करीब, 1 खरब 65 अरब GB डेटा हुआ इस्तेमाल