नई दिल्ली: विश्‍वव्‍यापी कोरोना महामारी के चलते देश में लागू लॉकडॉउन के बीच भारतीय हवाई अड्डा प्राधिकरण (एएआई) ने शुक्रवार को सभी यात्रियों के लिए ‘आरोगय सेतु एप’ डाउनलोड करना, वेब-चेकइन करना और बोर्डिंग पास का प्रिंट आउट लाना अनिवार्य कर दिया है. Also Read - विदेश से आने वाले भारतीयों को अब 7 दिन रहना होगा क्वारंटाइन, वापस किए जाएंगे बचे हुए पैसे

भारतीय हवाई अड्डा प्राधिकरण ने दिए ये खास निर्देश
– यात्रियों को सह -यात्रियों से चार फुट की दूरी रखनी होगी
– हवाई यात्र‍ियों को मास्क और अन्य सुरक्षा उपकरण पहनने होंगे
– हवाई यात्र‍ियों को अपने हाथ लगातार धोने होंगे या उन्हें संक्रमण मुक्त करना होगा
– अपने साथ हमेशा 350 मिलीलीटर की सैनिटाइजर की बोतल रखनी होगी
– यात्र‍ियों को वेब-चेकइन करना और बोर्डिंग पास का प्रिंट आउट लाना होगा Also Read - छत्तीसगढ़ में Coronavirus के 15 नए केस, कुल आंकड़ा, 307 लेकिन कोई भी मौत नहीं

बता दें कि दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरू और हैदराबाद हवाई अड्डों का प्रबंधन निजी कंपनियां करती हैं, एएआई नहीं

नागरिक उड्डयन सुरक्षा ब्यूरो (बीसीएएस) ने बुधवार को कहा था कि यात्री अब विमान में अपने साथ 350 मिलीलीटर हैंड सेनेटाइजर ले जा सकता है. सरकारी प्राधिकरण ने ट्वीट किया, ”घरेलू उड़ानों को जल्द संचालित करने की संभावना को देखते हुए एएआई ने कुछ उपाय जारी किए हैं जिसका यात्रा करते समय सभी यात्रियों को पालन करना होगा.

एएआई ने कहा, ”सभी यात्रियों को दिशानिर्देशों का पालन करना होगा, जिसमें आरोगय सेतु ऐप डाउनलोड करना, मास्क और अन्य निजी सुरक्षा उपकरण पहनना, सह-यात्रियों से चार फुट की शारीरिक दूरी रखना, वेब-चेकइन करना, अपने बोर्डिंग पास का प्रिंट आउट लाना, लगातार हाथ धोना या उन्हें संक्रमण मुक्त करना, हमेशा अपने साथ सैनिटाइजर की 350 मिलीलीटर की बोतल रखना और हवाई-अड्डा कर्मचारियों के साथ सहयोग करना अनिवार्य है.”

भारत में कोरोना वायरस से निपटने के लिए 25 मार्च से लॉकडाउन लगा है. देश में कोविड-19 के 81,900 से अधिक मामले हैं और अभी तक 2,600 लोगों की इससे जान जा चुकी है.