नई दिल्ली: सरकार ने केंद्रीय स्तर पर वैदिक विश्वविद्यालय की स्थापना को सैद्धांतिक रूप से मंजूरी दे दी है. प्राप्त जानकारी के अनुसार, इस विश्वविद्यालय का संचालन योग गुरु बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि करेगी. बाबा रामदेव ही इस यूनिवर्सिटी के चेयर पर्सन हो सकते हैं.

बाबा रामदेव की पतंजलि ने इस कंपनी को खरीदने के लिए लगाई 9000 करोड़ की बोली

ज्ञात सूत्रों ने बताया कि इस मुद्दे पर केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और बाबा रामदेव के प्रतिनिधियों के बीच पिछले हफ्ते चर्चा हुई थी. यूनिवर्सिटी का स्वरूप कैसा होगा, किस तरह से बनेगी, इस पर चर्चा की गई थी. सूत्रों ने बताया, “इस मुद्दे पर पतंजलि के प्रतिनिधियों और मंत्री के बीच बैठक में बात हुई थी. बाबा रामदेव ने विश्वविद्यालय का चेयरपर्सन बनने, इसके खर्च को वहन करने के इरादे का इजहार किया.’

बाबा रामदेव बोले- 2019 में मोदी सरकार पर भारी पड़ेगी महंगाई, नहीं करूंगा बीजेपी के लिए प्रचार

बता दें कि बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि द्वारा ही वैदिक यूनिवर्सिटी खोलने जा रही है. इसके लिए अब मंजूरी भी मिल ही गई है. केंद्र सरकार ने इसके लिए मंजूरी दी है. बताया जा रहा है कि जल्द ही यूनिवर्सिटी को बनाए जाने का काम शुरू हो सकता है.