पटना. बिहार में राज्यपाल के फैसले के खिलाफ हाई कोर्ट पहुंची आरजेडी की याचिका को स्वीकार कर लिया गया है. याचिका में बीजेपी-जेडीयू के साथ मिलकर सरकार गठन को चुनौती दी गई है. हालांकि कोर्ट ने विश्वासमत पर रोक लगाने से इनकार कर दिया. इस याचिका पर सोमवार को सुनवाई होगी.

एक याचिका को जितेंद्र कुमार ने जबकि दूसरी को आरजेडी विधायक सरोज यादव और चंदन कुमार वर्मा ने दायर किया है. याचिका में कहा गया है कि 2015 में जनता ने जेडीयू, आरजेडी और कांग्रेस के नेतृत्व वाले महागठबंधन को बहुमत दिया था.

उन्होंने याचिका में कहा कि आरजेडी विधानसभा में सबसे बड़ा दल है लेकिन राज्यपाल ने नीतीश के इस्तीफे के बाद पार्टी को पहले सरकार गठन का न्यौता नहीं दिया. याचिकाकर्ताओं ने कहा था कि ये संविधान के खिलाफ है. कोर्ट को इसमें हस्तक्षेप करना चाहिए.

बता दें कि नीतीश के इस्तीफे के बाद ही बुधवार को घटनाक्रम तेजी से बदला था. आधी रात को डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने राजभवन तक पैदल मार्च किया और कहा कि हम सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे. हालांकि राज्यपाल ने पहले आरजेडी को सरकार बनाने का मौका नहीं दिया.