नई दिल्ली: पेटीएम पेमेंट बैंक ने नए यूजर्स को जोड़ना बंद कर दिया है. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के निर्देशों के बाद पेटीएम ने यह कदम उठाया है. आरबीआई ने पेटीएम को निर्देश दिया था कि वह तत्काल प्रभाव से नए कस्टमर को इनरोल करना बंद कर दे. आरबीआई ने ऑडिट के दौरान कुछ चीजों को लेकर आपत्ति जताई थी. बिजनेस अखबार मिंट की खबर के मुताबिक हाल ही में पेटीएम पेमेंट्स बैंक की मुख्य कार्यकारी अधिकारी के पद से रेनू सत्ती ने इस्तीफा दे दिया था. आरबीआई का निर्देश है कि कोई बैंकर ही पेटीएम बैंक का हेड हो सकता है. Also Read - कोरोना का कहर, सरकार और RBI के प्रोत्साहन के बावजूद झेलनी पड़ी आर्थिक गिरावट

बंद हो सकता है ऑनलाइन शॉपिंग पर भारी डिस्काउंट, सरकार बना रही है प्लान Also Read - कोरोना वायरस: पेटीएम का 500 करोड़ रुपए का योगदान देने का लक्ष्य

रेनू ने पिछले साल ही पेमेंट्स बैंक के सीईअे का पद संभाला था. गौरतलब है कि पेटीएम ब्रांड का स्वामित्व रखनेवाली कंपनी वन97 कम्यूनिकेशंस जॉइंन करने से पहले रेनू सेट्ठी ने मदर डेयरी और मैनपावर सर्विस की ह्यूमन रिसोर्स एक्जिक्यूटिव थीं. हालांकि पेटीएम के एक कर्मचारी ने इस बात को मानने से इनकार कर दिया कि इस ग्राउंड पर रेनू सेट्ठी को उनके पद से हटाया गया. कर्मचारी का कहना है कि उन्होंने मई 2017 में इस पोस्ट पर जॉइन किया था और आरबीआई ने ही इसकी परमिशन दी थी. Also Read - PM मोदी ने कहा, RBI की घोषणाएं अर्थव्यवस्था को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाएंगी

जीएसटी दरों में की गई कटौती राजकोषीय घाटे पर प्रतिकूल प्रभाव डालेगी: मूडीज

इस्तीफे के बाद कंपनी ने भी अपने बयान में कहा था कि रेनू सत्ती कंपनी के नए खुदरा कारोबार के मुख्य परिचालन अधिकारी का कार्यभार संभालेंगी. हालांकि अभी यह साफ नहीं हो पाया है कि आरबीआई की वजह से पेटीएम बैंक ने नए कस्टमर का इनरोलमेंट रोका है या कोई और वजह है. कंपनी को पेटीएम पेमेंट बैंक को पेटीएम ब्रांड का स्वामित्व रखनेवाली कंपनी वन97 कम्यूनिकेशंस के अलग करने को कहा गया है. इसका उद्देश्य ग्राहकों का आर्थिक डाटा को सही तरीके से प्रोटेक्ट करना और उसे स्टोर करना है.

बुलेट को टक्कर देने आ रही है हार्ले-डेविडसन, भारत में उतारेगी 250 से 500 CC की बाइक

हाल ही में कंपनी ने अपनी बैंकिंग टीम को नोएडा के नए कैंपस में शिफ्ट किया है. हालांकि यह पहला मौका नहीं है जब पेमेंट बैंकों की स्कैनिंग हो रही है. हाल ही में UIDAI ने भी एयरटेल पेमेंट बैंक को लोगों के आधार की सूचना मोबाइल नंबर से जोड़ने पर रोक लगा दी थी.