नई दिल्ली: दिल्लीवासियों ने पटाखा मुक्त दिवाली मनाने की उम्मीदों को धता बताते हुए बुधवार को शोर-शराबे वाली दीपावली मनाने का रास्ता चुना. सुप्रीम कोर्ट द्वारा पटाखा छोड़ने के लिए निर्धारित रात आठ से 10 बजे की समय-सीमा के बाद भी राष्ट्रीय राजधानी के कई इलाकों में लोग आतिशबाजी करते नजर आए.

कोर्ट द्वारा तय की गई समय-सीमा के उल्लंघन की बात स्वीकार करते हुए दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘पुलिस ने बुधवार रात अपनी पैनी नजर बनाए रखी.’’ अधिकारी ने कहा, ‘‘उल्लंघन के कुछ मामले सामने आए हैं. कुछ इलाकों में लोग रात आठ से 10 बजे की समय-सीमा के बाद भी पटाखे जलाते नजर आए. उल्लंघन के ऐसे मामलों की ठीक-ठीक संख्या का पता लगाया जाना बाकी है. हालांकि, हम उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेंगे.’’

उन्होंने कहा कि वे उल्लंघनों पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस ने लगातार शहर में गश्त भी की. बता दें, सुप्रीम कोर्ट ने इस बार दिल्ली-एनसीआर में विशेष जगहों को चिन्हित कर रात 8 बजे से 11 बजे तक पटाखे फोड़ने का आदेश दिया था. सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में यह भी कहा था कि दिल्ली में वायु प्रदूषण को देखते हुए सिर्फ ग्रीन पटाखे ही फोड़े जाएं. हालांकि दिल्ली-एनसीआर में लोग कोर्ट के आदेश का उल्लंघन करते नजर आए.

वहीं अदर दिल्ली के वायु प्रदूषण की बात करें तो वह पहले से ही गंभीर श्रेणी में पहुंच चुका है जिससे लोगों का सांस लेना भी मुश्किल हो रहा है. सरकार ने पहले से ही दिल्ल दिल्ली में निर्माण कार्य पर रोक लगाई हुई है और थर्मल पावर प्लांट्स को भी कुछ समय के लिए बंद करने का आदेश दिया है.

(इनपुट एजेंसी से भी)