Petrol-Diesel Price Hike: लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने दावा किया कि इस साल एक जनवरी से पेट्रोल और डीजल के दाम 69 बार बढ़ाये गए हैं और केंद्र ने इससे 4.91 लाख करोड़ रुपये का राजस्व अर्जित किया है. पश्चिम बंगाल कांग्रेस के अध्यक्ष चौधरी ने राज्य की तृणमूल कांग्रेस सरकार से अनुरोध किया कि वह छत्तीसगढ़ सरकार की तरह पेट्रोल-डीजल की कीमतों से मूल्य वर्द्धित कर (वैट) को हटा दे. उन्होंने कहा, ‘‘दिल्ली में बैठी नरेंद्र मोदी सरकार ने लोगों की परेशानियों को सोचे बिना एक जनवरी से 69 बार पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ाये हैं और 4.91 लाख करोड़ रुपये अर्जित किये हैं.’’Also Read - प्रशांत किशोर कांग्रेस पार्टी में हो सकते हैं शामिल, अखिर क्यों राहुल गांधी ने पार्टी नेताओं से मांगी राय!

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘भाजपा सरकार आम आदमी की हालत पर कोई चिंता नहीं जता रही. हम केंद्र से अनुरोध करते हैं कि पेट्रोल-डीजल के बढ़े हुए दामों को वापस ले.’’ बंगाल विधानसभा में लोक लेखा समिति (पीएसी) अध्यक्ष के चुनाव को लेकर पूछे गये एक प्रश्न पर चौधरी ने कहा कि लोकसभा और विधानसभा दोनों जगह पर मुख्य विपक्षी दल के सदस्य को पीएसी अध्यक्ष बनाया जाता है. Also Read - दिल्‍ली में सियासी मुलाकातें: शरद पवार मिले लालू यादव से, ममता बनर्जी मिलीं अरविंंद केजरीवाल से

उन्होंने कहा, ‘‘मैं तीन बार पीएसी का अध्यक्ष रहा हूं. हमारी नेता सोनिया गांधी ने मेरे नाम की सिफारिश की थी. हालांकि, अंतिम निर्णय लोकसभा अध्यक्ष या विधानसभा अध्यक्ष करते हैं. पीएसी अध्यक्ष का निर्वाचन उनका विशेषाधिकार है.’’ हालांकि, चौधरी ने बंगाल में हाल ही में भाजपा से तृणमूल कांग्रेस में शामिल हुए मुकुल रॉय के पीएसी प्रमुख चुने जाने के मुद्दे पर कोई टिप्पणी नहीं की. Also Read - कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलीं पश्चिम बंगाल की CM ममता बनर्जी, राहुल गांधी भी रहे मौजूद