नई दिल्ली: कर्नाटक चुनाव के बाद से लगातार 8वें दिन पेट्रोल-डीजल की कीमतें बढ़ाई गई हैं.  पिछले एक हफ्ते में पेट्रोल पर 2 रुपए प्रति लीटर और डीजल पर 1.89 रुपए प्रति लीटर दाम बढ़ चुके हैं. तेल कंपनियों की ओर से सुबह 6 बजे जारी रेट लिस्ट के मुताबिक, सोमवार को पेट्रोल पर 33 पैसे और डीजल पर 25 पैसे की बढ़ोतरी की गई. दिल्ली में पेट्रोल अपने रिकॉर्ड हाई 76.57 रुपए प्रति लीटर पर पहुंच गया है. वहीं, डीजल के दाम भी रिकॉर्ड स्तर 67.82 रुपए प्रति लीटर हैं.

जानें महानगरों में पेट्रोल के दाम

शहर सोमवार के भाव (रु./लीटर) बढ़ोतरी (14 मई से 21 मई तक)
दिल्ली 76.57 1.94 रुपए
मुंबई 84.40 1.92 रुपए
कोलकाता 79.24 1.92 रुपए
चेन्नई 79.47 2.04 रुपए

8 रुपए लीटर तक बढ़ सकते हैं दाम
मॉर्गन स्टेनले के मुताबिक, विदेशी बाजार में कच्चे तेल की कीमत में उछाल आने से घरेलू बाजार में भी पेट्रोल-डीजल की कीमतों में तेजी रहने की संभावना है. पेट्रोल-डीजल के दाम अभी 6 से 8 रुपए तक बढ़ सकते हैं.

पेट्रोल-डीजल की बढ़ी कीमतें: अखिलेश बोले- जनता को सरकार के खिलाफ जाने की मिल रही सजा, लिया जा रहा बदला’

मुंबई में पेट्रोल सबसे महंगा
देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में पेट्रोल की कीमत सबसे अधिक 84.40 रुपए लीटर है, जबकि भोपाल में यह कीमत 82.16 रुपए प्रति लीटर है. पटना में पेट्रोल 82.06 रुपए में बिक रहा है. हैदराबाद में 81.09 और श्रीनगर में 80.68 रुपए में पेट्रोल मिल रहा है. कोलकाता में 79.24 और चेन्नई में 79.47 रुपए में पेट्रोल की बिक्री हो रही है. सबसे सस्ता पेट्रोल पोर्ट ब्लेयर में है, जहां 66.01 रुपए में पेट्रोल मिल रहा है.

हैदराबाद में डीजल सबसे महंगा
डीजल की बात करें तो हैदराबाद में स्थानीय करों के चलते डीजल सबसे महंगा 73.72 रुपए प्रति लीटर में मिल रहा है. त्रिवेंद्रम में डीजल 73.59 रुपए में मिल रहा है. इसके अलावा रायपुर, गांधीनगर, भुवनेश्वर, पटना, जयपुर, भोपाल, रांची और श्रीनगर समेत कई अन्य शहरों में डीजल की कीमत 70 रुपए प्रति लीटर से अधिक हैं. नोटिफिकेशन के मुताबिक, पोर्ट ब्लेयर में सबसे सस्ता 63.58 रुपए में डीजल मिल रहा है. मुंबई में इसकी कीमत 72.21 रुपए है.

दो साल में 90 डॉलर/बैरल हो सकता है कच्चे तेल का दाम
कच्चे तेल की कीमतों में दो साल तक उछाल आने का अनुमान है. 2020 तक यह 90 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच सकता है. इससे पहले अक्टूबर 2014 में यह 90 डॉलर प्रति बैरल के पार पहुंचा था.

फिलहाल उत्पाद शुल्क नहीं घटाएगी सरकार
केंद्र सरकार उपभोक्ताओं पर पड़ने वाले पेट्रो-डीजल की कीमतों के बोझ को कम करने के लिए उत्पाद शुल्क में अभी कोई कटौती नहीं कर रही है. आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने बताया कि सरकार अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों के बाद बन रहे हालात पर नजर रख रही है.