नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट में फिजिकल हियरिंग को शुरू करने को लेकर काम चल रहा है. संभावना है कि दो हफ्ते बाद सुप्रीम कोर्ट के 15 कोर्ट्स में से 3 कोर्ट में फिजिकल हियरिंग शुरू हो सकती है. भारत के प्रमुख न्यायधीश द्वारा गठित 7 न्यायधीशों की समिति ने मंगलवार के दिन चर्चा के लिए एक बैठक का आयोजन किया. इसमें फिजिकल कोर्ट को शुरू करने को लेकर चर्चा की गई. इस बात की जानकारी सुप्रीम कोर्ट के एसोसिएशन नेताओं ने दी. Also Read - प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के लिए पर्याप्त नियमन मौजूद, डिजिटल मीडिया का नियमन पहले हो: केंद्र

बता दें कि कोरोना महामारी के फैलने के बाद से ही और देश में लॉकडाउन लगने के बाद से फिजिकल सुनवाई कोर्ट में बंद है. ऐसे में न्यायधीशों की समिति ने सुप्रीम कोर्ट में फिजिकल हियरिंग को लेकर बार एसोसिएशन और एड्वोकेट्स ऑन रिकॉर्ड्स को सूचित किया है कि मंगलवार से कम से कम तीन कोर्ट में फिजिकिल ट्रायल बेसिस पर हियरिंग की शुरू की जा सकती है. Also Read - सुप्रीम कोर्ट ने टीवी शो पर लगाई फटकार, कहा- अन्य नागरिक के जैसा है पत्रकार, अमेरिका की तरह कोई अलग से स्वतंत्रता नहीं

आशंका जताई जा रही है कि प्रमुख न्यायधीश को 7 सदस्यीय बेंच कमेटी जल्द ही रिपोर्ट सौंपेगी. कोर्ट में फिजिकल हियरिंग को लेकर बार एसोसिएशन के सदस्यों में खासा उत्साह देखने को मिला. इस रिपोर्ट के मुख्य न्यायधीश यह फैसला करेंगे कि आखिर कब से पूर्णतया कोर्ट में हियरिंग की शुरू की जाएगी. Also Read - अरविंद केजरीवाल ने दिया आश्वासन- दिल्ली में नहीं हटाई जाएंगी 48,000 झुग्गियां, पहले मिलेगा पक्का घर

बता दें कि समिति की सात जजों और बार एसोसिएशन के नेताओं के बीच कल वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठक की गई. यहां SCBA के अध्यक्ष दुष्यंत दवे औऱ SCAORA के अध्यक्ष शिवाजी जाधव भी मौजूद थे. दवे का कहना है कि हमने अदालत को सुझाव दिया है कि अदालतों की सुनावई जैसे चल रही है चलने दी जाए. केवल 4 या 5 कोर्ट्स में फिजिकल हियरिंग की व्यवस्था फिर से शुरू की जाए.