नई दिल्ली: PM CARES फंड की शुरुआत 2.25 लाख रुपये की राहत राशि से हुई थी. लेकिन इसके शुरू होने के 5 दिनों के भीतर ही इस कोष को देश विदेश में खूब समर्थन मिला है. 5 दिनों में ही कोष में भारत और विदेशों से योगदान के रूप में 3,076 करोड़ रुपये प्राप्त हुए। इस बात का खुलासा पीएम केयर्स फंड के पहले ऑडिट के बाद सामने आई है. फंड को SARC & Associates द्वारा ऑडिट किया गया है. गौरतलब है कि कोरोना महामारी के मद्देनजर पीएम केयर्स फंड की स्थापना 27 मार्च को की गई थी. Also Read - लद्दाख गतिरोध: भारत-चीन ने जारी किया संयुक्त बयान, फ्रंटलाइन पर और जवान नहीं भेजेंगे दोनों देश, जारी रहेगी वार्ता

हालांकि अभी इस बाबत जानकारी को साझा नहीं किया गया है कि है फंड में किन लोगों ने योगदान दिया है. बता दें कि फंड के पहले ट्रस्टी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण हैं. ये सभी पीएम केयर्स फंड के पदेन अधिकारी भी हैं. फंड के ऑडिट किए जाने के बाद पीएमओ द्वारा जारी बयान में वित्तीय विवरण की जानकारी दी गई लेकिन कोष में राहत राशि भेजने वालों के नामों पर किसी तरह की जानकारी को सार्वजनिक नहीं किया गया. Also Read - भारत में 10 लाख की आबादी पर कोरोना के 4000 मामले और 64 मौतें, देश का रिकवरी रेट 80 प्रतिशत से अधिक

आंकड़ों के मुताबिक पीएम केयर्स फंड में 31 मार्च तक स्वैच्छिक योगदान 3075.85 करोड़ रुपये था. फंड को इस राशि पर 35.32 लाख रुपये ब्याज मिला है. जानकारी के मुताबिक विदेशों से भेजे जा रहे पैसे के मुद्रा रुपांतरण पर 2,049 रुपये का भुगतान करना पड़ा है. 31 मार्च तक पीएम केयर्स फंड में 3076 .62 रुपए जमा कराए जा चुके थे. Also Read - Coronavirus Fresh Restrictions: कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए देश के इन जिलों में लगाए गए नए प्रतिबंध, कहीं लॉकडाउन तो कहीं...