नई दिल्ली: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने देश में 21 दिनों के लिए बंद की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की घोषणा का समर्थन करते हुए बुधवार को कहा कि यह कोरोना के खिलाफ युद्ध में निर्णायक दौर है और इसमें मोदी सेनापति एवं जनता सैनिक है. Also Read - New Restrictions in Delhi: दिल्ली में लगाई गईं नई पाबंदियां, जानिए क्या खुला रहेगा और क्या रहेगा बंद

बंद पर मोदी का समर्थन और उन्हें सेनापति बताने वाले बयान पर कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि यह चिदंबरम की निजी राय है और यह पार्टी का मत नहीं है. Also Read - Full Lockdown in Maharashtra Updates: महाराष्ट्र में पूर्ण लॉकडाउन लगेगा या नहीं? मंत्री ने कहा, कल फैंसला लेंगे मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

पूर्व वित्त मंत्री ने कहा, ”प्रधानमंत्री की ओर से 21 दिनों के बंद की घोषणा कोरोना के खिलाफ लड़ाई में एक निर्णायक दौर है. इस लड़ाई में जनता सैनिक और प्रधानमंत्री सेनापति हैं.” Also Read - Coronavirus in Delhi: दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के 7,897 नए मामले सामने आए, 39 रोगियों की मौत

कांग्रेस के सीनियर नेता ने एक बयान में सरकार से यह आग्रह भी किया कि किसानों, मजदूरों और गरीबों के खातों में पैसे भेजे जाएं तथा 30 जून तक सभी जरूरी वस्तुओं एवं सेवाओं पर जीएसटी में पांच फीसदी तक की कमी की जाए.

चिदंबरम के अनुसार यह सभी लोगों का कर्तव्य है कि वे कोरोना के खिलाफ लड़ाई में प्रधानमंत्री, केंद्र सरकार और राज्य सरकारों का पूरा सहयोग करें. उन्होंने कहा कि किसान सम्मान निधि की राशि दोगुना करके 12 हजार रुपये की जाए और किसानों के खातों में तत्काल पैसे भेजे जाएं.

बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी ने देश के लोगों से कोरोना वायरस की गंभीरता को समझने और घरों में रहने की अपील करते हुए मंगलवार को 21 दिनों के राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन की घोषणा की थी.