PM Modi On COVID-19 Management: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कोविड प्रबंधन पर पड़ोसी देशों की कार्यशाला को संबोधित किया. इस कार्यशाला में कुल 10 पड़ोसी देश शामिल हुए. प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबोधन में कोरोना संकट के मसले पर एकजुटता की अपील की और कहा कि कोरोना से लड़ने के लिए हमारे पास एक ही हथियार कारगर है जो है-हमारी एकजुटता. Also Read - Priyanka Gandhi Vadra असम के Tea बागान में चाय की पत्तियां तोड़ते आईं नजर, देखें ये वीडियो

पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना महामारी से लड़ने में देशों के बीच सहयोग की भावना मूल्यवान है. यदि 21 वीं सदी एशिया की है तो यह दक्षिण एशिया और हिंद महासागर के देशों की एकजुटता के बिना संभव नहीं हो सकती है. Also Read - Assam: प्रियंका गांधी ने असम में शुरू किया चुनाव प्रचार अभियान, महिलाओं के साथ कुछ इस तरह किया पारंपरिक डांस

VIDEO देखें, पीएम मोदी ने क्या कहा… Also Read - PM Narendra Modi Reaction After Vaccination: वैक्सीन लगाने के बाद पीएम ने दिया ये रिएक्शन- लगा भी दिया...

पीएम मोदी ने 3,231 करोड़ की ‘महाबाहु ब्रह्मपुत्र’ प्रोजेक्ट का किया शुभारंभ

प्रधानमंत्री मोदी ने आज दोपहर असम में 3,231 करोड़ की लागत से बनने वाले ‘महाबाहु ब्रह्मपुत्र’ प्रोजेक्ट का शुभारंभ किया. इस योजना का लक्ष्य देश से असम की कनेक्टिविटी को आसान करना है. प्रधानमंत्री मोदी ने वीडियो कान्फ्रेंस के जरिये मजौली पुल निर्माण का पहला पत्थर रखकर भूमि-पूजन संपन्न किया. ये परियोजना मजौली को जोरहाट से जोड़ने का काम करेगी.

इस पुल की कुल लंबाई 19 किलोमीटर है। बताया जा रहा है कि यह पुल 2 लेन वाली होगी. प्रधानमंत्री मोदी ने इसके साथ ही अन्य परियोजनाओं का भी शिलान्यास किया है. उन्होने कहा कि inland water transport का निर्माण जोजीघोपा में किया जाएगा, जिसमें नेमाटी, बिश्वनाथ घाट और पांडु पर पर्यटक जेटी के निर्माण का कार्य भी शामिल है.

बता दें कि पर्यटन मंत्रालय ने पर्यटक जेटी निर्माण की कुल लागत 9.41 करोड़ बताई जा रही है. मजौली में निर्माण होने वाला 19 किमी लंबा यह पुल सड़क से तय की जाने वाली 205 kilometer लंबी दूरी को कम कर देगा. इसके साथ ही धुबरी से फुलबारी को जोड़ने वाली 4 लेन पुल का निर्माण किया जाएगा और inland water transport को अंतर्देशीय जल परिवहन टर्मिनल बनाया जायेगा.