नई दिल्ली: गुजरात में उत्तर भारतीयों पर हमले की पृष्ठभूमि में कांग्रेस पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को कहा कि भाजपा सुख बांटने में विश्‍वास करती है जबकि कांग्रेस समाज बांटने की कोशिशों में लगी रहती है. पीएम ने कहा कि कांग्रेस पार्टी का मंत्र ‘बांटो और राज करो’ है जबकि भाजपा का मंत्र ‘सबका साथ, सबका विकास’ है. किसी का नाम लिये बिना उन्होंने यह भी कहा कि पांच राज्यों में चुनाव होने वाले हैं तो ऐसी चीजों (समाज को बांटने के प्रयास) को बढ़ावा दिया जा रहा है.

प्रधानमंत्री ने ‘मेरा बूथ, सबसे मजबूत’ कार्यक्रम के तहत रायपुर, मैसूर, धौलपुर, दमोह और आगरा के भाजपा कार्यकर्ता को नरेन्द्र मोदी एप के जरिये संबोधित करते हुए कहा, ‘‘ कांग्रेस ने आज तक बांटो और राज करो पर अमल किया है. छोटी-छोटी बातों पर लोगों को भड़का कर उल्लू सीधा करने का काम किया है.’’

गडकरी बोले- सत्ता में आने की नहीं थी कोई उम्मीद, इसलिए किए 15 लाख देने जैसे बड़े-बड़े वादे

उन्होंने कहा कि वहीं भाजपा कार्यकर्ताओं के दिल में यह भाव होता है कि देश किसी भी तरह से बंटना नहीं चाहिए. मोदी ने कहा कि भाजपा का मंत्र सबका साथ, सबका विकास और सर्वजन हिताय, सर्वजन सुखाय है. प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘सुख बांटने से बढ़ता है. यह हमारी संस्कृति में निहित है. लेकिन कांग्रेस पार्टी को देश की संस्कृति से कोई लेना देना नहीं है.’’ कांग्रेस पर निशाना साधते हुए मोदी ने कहा, ‘‘हम सुख बांटने वाले हैं, वो समाज बांटने वाले हैं. हमें सुख बांटकर हर किसी की जिंदगी में सुख लाने का प्रयास करना है. उनका समाज बांटकर खुद के परिवार का भला करने का सपना है.’’

गोवा: ‘बागी’ डिप्टी स्पीकर पर जल्द फैसला लेगी बीजेपी, AIIMS में घटक दलों से मिलेंगे CM पर्रिकर

उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि पांच राज्यों में चुनाव होने वाले हैं, तो ऐसी चीजों को बढ़ावा दिया जा रहा है. उन्होंने कहा किा कांग्रेस का काम ही है तोड़ो, बांटो और एक दूसरे से लड़ाओ. प्रधानमंत्री ने कहा कि जब अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार थी तब उत्तराखंड, छत्तीसगढ़ और झारखंड तीन राज्य बने और शांतिपूर्ण ढंग से बने. उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने तेलंगाना बनाया और ऐसे बनाया कि एक ही क्षेत्र के लोगों को एक दूसरे का दुश्मन बना दिया.

कांग्रेस की मांग, यौन उत्‍पीड़न के आरोपों पर जवाब दें, नहीं तो पद छोड़ें विदेश राज्‍यमंत्री एम जे अकबर

2019 के लोकसभा चुनाव के लिए विपक्षी पार्टियों द्वारा महागठबंधन बनाने की कोशिशों की चर्चा करते हुए पीएम ने कहा कि यह आइडिया पहले भी फ्लॉप हो चुका है. ये पार्टियां आपस में लड़ती हैं, लेकिन जैसे ही सरकार बनाने की बात आती है तो एक हो जाते हैं. उन्‍होंने कर्नाटक का उदाहरण दिया और पार्टी कार्यकर्ताओं को ऐसे नेताओं की असलियत जनता तक पहुंचाने की अपील की.
मोदी ने कहा कि भारतीय संस्कृति नित्य नूतन चिर पुरातन है. भारत के पास वो सांस्‍कृतिक विरासत है जिसकी आवश्यकता पूरी दुनिया को है. दुनिया के सामने खड़ी चुनौतियों के बीच जीवन जीने की कला सिखाती हमारी संस्कृति एक आशा की किरण है.