PM Modi, BJP, NDA, UDF, LDF, CONGRESS, Kerala, Assembly Elections News, पलक्कड़: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Modi) ने मंगलवार को केरल विधानसभा चुनाव 2021(Kerala Assembly Election 2021) के प्रचार अभियान के तहत पलक्कड़ में आयोजित एक जन रैली में विपक्षी दलों पर जमकर निशाना साधा है. पीएम मोदी ने मंगलवार को केरल के सत्ताधारी वाम लोकतांत्रिक मोर्चा (LDF) और प्रमुख विपक्षी गठबंधन संयुक्त लोकतांत्रिक मोर्चा (UDF) के बीच ”मैच फिक्सिंग” का आरोप लगाया और कहा कि दोनों के नाम भले ही अलग-अलग हों, लेकिन इनका काम एक ही है. Also Read - Maharashtra Lockdown: महाराष्ट्र में लॉकडाउन जैसी पाबंदियों के बीच देवेंद्र फडणवीस ने की यह मांग...

5 साल एक लूटता और 5 साल दूसरा लूटता है
पीएम ने कहा, केरल की राजनीति का सालों तक रखा गया सबसे खराब सीक्रेट UDF और LDF का दोस्ताना समझौता था. पहली बार मतदान करने वाला युवा पूछ रहा है कि ये मैच फिक्सिंग क्या है? 5 साल एक लूटता और 5 साल दूसरा लूटता है. लोग देख रहे हैं कि कैसे UDF और LDF लोगों को गुमराह करते हैं. पीएम मोदी ने कहा, ”कई सालों से केरल में राजनीति में यूडीएफ और एलडीएफ के बीच दोस्ताना समझौता रहा है. अब राज्य के मतदाता पूछ रहे हैं ये कौन सी मैच फिक्सिंग है? पांच साल तक एक लूट और अगले पांच साल दूसरी लूट.” Also Read - PM Modi ने ट्वीट कर पुथंडु, बिहू, महा विशु के अवसर पर देशवासियों को दीं शुभकामनाएं, सभी के अच्छे स्वास्थ्य की कामना की

बता दें क‍ि राज्य के कथित हाई प्रोफाइल सोना तस्करी मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने पिछले साल एम. शिवशंकर को गिरफ्तार किया था. वह मुख्यमंत्री पिनराई विजयन के प्रधान सचिव थे. उनकी गिरफ्तारी के साथ ही एलडीएफ विपक्षी कांग्रेस और भाजपा के निशाने पर हैं.

UDF और LDF के दो मकसद हैं, वोट बैंक की राजनीति को आगे बढ़ाना और जेब भरना है
पीएम मोदी ने कहा कि केरल के युवा आज मुखर होकर बोल रहे हैं कि यूडीएफ और एलडीएफ के नाम भले ही अलग हैं दोनों के काम एक जैसे हैं. दोनों के कार्यकाल में जनता के पैसों की लूट होती रही. पीएम ने कहा, ये साफ है कि UDF और LDF के दो मकसद हैं, वोट बैंक की राजनीति को आगे बढ़ाना और जेब भरना है. पीएम ने कहा, हमारी सरकार कृषि के विकास और किसानों के कल्याण के लिए काम कर रही है. कई सालों तक सरकारों ने एमएसपी बढ़ाने का वादा किया लेकिन हमारी सरकार को किसानों के लिए एमएसपी बढ़ाने का सम्मान मिला.

एलडीएफ ने सोने के चंद टुकड़ों के लिए केरल को धोखा दिया
केरल विधानसभा चुनाव के मद्देनजर राज्य में भाजपा की पहली रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने आरोप लगाया कि जिस प्रकार चांदी के चंद टुकड़ों के लिए युदस ने ईसा मसीह को धोखा दिया उसी प्रकार एलडीएफ ने सोने के चंद टुकड़ों के लिए केरल को धोखा दिया.

एलडीएफ ने सोने के चंद टुकड़ों के लिए केरल को धोखा दिया
पीएम मोदी ने कहा, ”यूडीएफ ने तो सूर्य की रोशनी तक को नहीं छोड़ा. एलडीएफ के बारे में कहा जा सकता है कि युदस ने ईसा मसीह को चांदी के चंद टुकड़ों के लिए धोखा दिया, एलडीएफ ने सोने के चंद टुकड़ों के लिए केरल को धोखा दिया.”

लेफ्ट पार्टियां सत्ता में रही, लेकिन उनके नेता अब जूनियर लेवल के गुंडे की तरह पेश आते हैं 
पीएम मोदी ने कहा, यहां कई बार लेफ्ट पार्टियां सत्ता में रही, लेकिन उनके नेता अब भी ऐसे पेश आते हैं जैसे वो जूनियर लेवल के गुंडे हों. उनकी नजरों के सामने राजनीतिक प्रतिद्वंदियों को मारा और पीटा जाता है, राजनीति में ये अच्छा नहीं है.

केरल के लिए भाजपा की दृष्टि युवाओं के भविष्य और उनकी आकांक्षाओं को लेकर है
प्रधानमंत्री ने दावा किया कि केरल की राजनीति में पिछले कुछ सालों से एक बड़ा बदलाव देखने को मिल रहा है और यह राज्य के युवाओं खासकर पहली बार मतदान करने वाले मतदाताओं की आकांक्षाओं के मद्देनजर हो रहा है. पीएम ने कहा, ”पहली बार मतदान करने वाले युवा एलडीएफ और यूडीएफ से दुखी हैं. केरल के लिए भाजपा की दृष्टि युवाओं के भविष्य और उनकी आकांक्षाओं को लेकर है. यही वजह है कि राज्य के युवा और नौकरी-पेशा वाले लोग खुलकर भाजपा का समर्थन कर रहे हैं. यही माहौल पूरे भारत में है.”


बता दें कि मेट्रो मैन ई श्रीधरन बतौर भाजपा उम्मीदवार पलक्कड़ विधानसभा से चुनाव लड़ रहे हैं.

हमारा मकसद समावेशी विकास है
मोदी ने कहा, केरल और पर्यटन का करीबी रिश्ता है, ये दुखद है कि UDF और LDF ने यहां पर्यटन इंफ्रास्ट्रक्चर को बेहतर बनाने के लिए खास काम नहीं किया. मोदी ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि वह राज्य में पहली चुनावी रैली को संबोधित करते हुए उत्साहित महसूस कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि पलक्कड़ का भाजपा से विशेष नाता रहा है. पीएम ने कहा, एनडीए सरकार मेडिकल और तकनीकी शिक्षा स्थानीय भाषा में भी उपलब्ध कराने के लिए काम कर रही है. एनडीए सामाजिक न्याय को आगे बढ़ाने की दिशा में काम करती रहेगी, हमारा मकसद समावेशी विकास है.