नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की ओर से कोलकाता में आयोजित संयुक्त विपक्ष की रैली को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हमला बोला है. उन्होंने कहा कि गठबंधन नरेंद्र मोदी के खिलाफ नहीं है बल्कि यह देश के लोगों के खिलाफ है. अभी वे पूरी तरह से साथ नहीं है, लेकिन अभी से अपनी सीटों के लिए बार्गनिंग कर रहे हैं. पीएम ने कहा कि जब लोकतंत्र का गला दबाने वाले लोकतंत्र को बचाने की बात करते हैं तो देश के मुख से निकलता है वाह क्या बात. पीएम मोदी ने कहा कि विपक्ष को कुर्सी की चिंता है लेकिन मुझे देश की.

इससे पहले बीजेपी सांसद राजीव प्रताप रूडी ने कहा कि यह सिद्धांतविहीन लोगों के एकजुट होने की कोशिश है. शत्रुघ्न सिन्हा के रैली में शामिल होने पर रूडी ने कार्रवाई के संकेत दिए. रूडी ने कहा कि शत्रुघ्न सिन्हा पर पार्टी अपना संज्ञान ले चुकी है. उन्होंने बिना नाम लिए कहा कि कुछ लोग अगल तरह के इंटेलिजेंट होते हैं. ऐसे लोगों के बारे में कुछ नहीं कह सकता लेकिन यह जरूर कहना चाहता हूं कि यह पार्टी और जनता के विश्वास के साथ धोखा देने का काम है.

बीजेपी सांसद ने कहा कि ये वो लोग हैं जो सिर्फ एक व्यक्ति के खिलाफ अपने स्वार्थों के कारण एकजुट हुए हैं. केंद्र की मोदी सरकार को हटाने के लिए इनका जमघट लगा है, लेकिन इन्हें समझ लेना चाहिए कि जनता समझदार है और इनके झांसे में नहीं आने वाली है. इससे पहले बीजेपी नेता मुख्तार अब्बास नकवी ने इस रैली को लेकर कहा कि ये लोग थके हुए, पीटे हुए पहलवान हैं, जो अखाड़े में जाकर फिर से अपनी किस्मत आजमाना चाहते हैं. पहला गठबंधन (कर्नाटक) इस हाल में है तो आगे क्या होगा.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी विपक्षी एकता प्रदर्शित करने के लिए कोलकाता में ‘यूनाइटेड इंडिया रैली’ कर रही है. रैली से पहले तृणमूल प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि यह रैली लोकसभा चुनावों से पहले भाजपा के लिए ‘मृत्यु-नाद’ की मुनादी होगी.