PM Narendra Modi, IIM-Sambalpur News: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने आज शनिवार को वीडियो कॉन्‍फ्रेंशिंग के जरिए ओडिशा (Odisha) के संबलपुर स्थित भारतीय प्रबंधन संस्थान IIM-Sambalpur के स्थायी परिसर की आधारशिला रखी है. Also Read - संसद के बजट सत्र से पहले 30 जनवरी को सर्वदलीय मीटिंग, PM मोदी करेंगे अध्यक्षता

इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा, 2014 तक भारत में 13 IIM थे. आज 20 आईआईएम हैं. इतना बड़ा टैलेंट पूल ‘आत्मनिर्भर ’अभियान को मजबूत करने में मदद कर सकता है. Also Read - PM मोदी ने गुरु गोविंद सिंह को नमन किया, बोले- उनके साहस और बलिदान को भी याद करते हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज शनिवार को करीब 11 बजे वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए ओडिशा के संबलपुर में भारतीय प्रबंधन संस्थान (IIM) के स्थायी परिसर की आधारशिला रखी. इस कार्यक्रम में ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक भी शामिल हुए.

ओडिशा को प्रबंधन की दुनिया में नई पहचान दिलाएगा
पीएम ने उम्मीद जताई कि यह ओडिशा को प्रबंधन की दुनिया में नई पहचान दिलाएगा और कहा कि देश के नए क्षेत्रों में नए अनुभव लेकर निकल रहे प्रबंध मामलों के विशेषज्ञ भारत को नई ऊंचाई पर ले जाने में बड़ी भूमिका निभाएंगे.

यह पूरी जगह ही एक प्राकृतिक लैब की तरह है
प्रधानमंत्री ने कहा, ”संबलपुर का आईआईएम और इस क्षेत्र में पढ़ने वाले विद्यार्थियों के लिए खास बात यह होगी की यह पूरी जगह ही एक प्राकृतिक लैब (प्रयोगशाला) की तरह है.

लोकल को ग्लोबल बनाने के लिए नए और नवोन्मेषी समाधान सुझाएं
प्रधानमंत्री ने आईआईएम-संभलपुर के छात्रों से ”लोकल को ग्लोबल’’ बनाने के लिए नए और नवोन्मेषी समाधान सुझाने का आग्रह किया.

ओड़िशा की महान संस्कृति नई पहचान देने वाला है ये IIM
इस अवसर पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, आज IIM कैंपस के शिलान्यास के साथ ही ओड़िशा के युवा सामर्थ्य को मजबूती देने वाली एक नई शिला रखी गई है. IIM का ये स्थायी कैंपस ओड़िशा की महान संस्कृति और संसाधनों की पहचान के साथ ओड़िशा को मैंनेजमेंट की दुनिया में नई पहचान देने वाला है. पीएम ने कहा, आज खेती से लेकर स्पेस सेक्टर तक जो अभूतपूर्व रिफॉर्म किए जा रहे हैं, उनमें स्टार्टअप के लिए संभावनाएं लगातार बढ़ रही हैं.

आज के स्टार्टअप कल की बहुराष्ट्रीय कंपनियां-पीएम मोदी
पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, ”आज के स्टार्टअप कल की बहुराष्ट्रीय कंपनियां हैं. अधिकांश स्टार्टअप देश के टियर II और टियर-III शहरों में आ रहे हैं. खेती के क्षेत्र से लेकर अंतरिक्ष क्षेत्र तक स्टार्टअप्स का दायरा बढ़ता जा रहा है.

ओडिशा पूर्वी भारत के एजुकेशन हब के रूप में उभरा: पटनायक
ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक ने कहा, ” ओडिशा में शिक्षा में तेजी से बदलाव आ रहा है. मुझे खुशी है कि हमारा राज्य शिक्षा के क्षेत्र में अपना दबदबा बनाए हुए है और पूर्वी भारत के एजुकेशन हब के रूप में उभरा है.”

प्रधानमंत्री कार्यालय ने दी थी जानकारी 
बता दें कि शुक्रवार को प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जारी एक बयान में कहा गया था कि मोदी वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से आईआईएम परिसर की 2 जनवरी को 11 बजे आधारशिला रखेंगे.

CM नवीन पटनायक, केंद्रीय मंत्री पोखरियाल , धर्मेन्द्र प्रधान और PC सारंगी रहे मौजूद
ओडिशा के राज्यपाल गणेशी लाल और मुख्यमंत्री नवीन पटनायक भी इस समारोह में मौजूद रहे हैं. इनके अलावा केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक, धर्मेन्द्र प्रधान और प्रताप चंद्र सारंगी भी इस कार्यक्रम में उपस्थित रहे.

5000 से अधिक आगंतुक डिजिटल माध्यम से जुड़ें
इस समारोह में अधिकारियों, उद्योग जगत के अग्रणी नेताओं, शिक्षाविदों, छात्रों, पूर्व छात्रों और आईआईएम संबलपुर के शिक्षकों सहित 5000 से अधिक आगंतुक डिजिटल माध्यम से जुड़ें.

फ्लिप्ड क्लासरूम के आइडिया को लागू करने वाला पहला आईआईएम
आईआईएम संबलपुर फ्लिप्ड क्लासरूम के आइडिया को लागू करने वाला पहला आईआईएम है, जहां मूलभूत अवधारणाओं को डिजिटिल तरीके से सिखाया जाता है और उद्योग से लाइव प्रोजेक्ट्स के माध्यम से कक्षा में प्रायोगिक शिक्षा दी जाती है.