PM Modi Meetings With CMs: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज 8 राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ कोरोना महामारी को लेकर एक समीक्षा बैठक की. इस बैठक में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि प्रदेश कोविड की तीसरी लहर के चपेट में है. राज्य में 10 नवंबर से मामलों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है. ऐसे में आने वाले दिनों में स्वास्थ्य सुविधाओं को और बढ़ाने की जरूरत पड़ सकती है. उन्होंने इसके साथ ही केंद्र सरकार से केंद्र के हॉस्पिटलों में 1000 आईसीयू बेड उपलब्ध कराने की भी मांग की. केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामले के लिए मौसम और प्रदूषण को बड़े फैक्टर के रूप में ज़िम्मेदार बताया. उन्होंने केंद्र सरकार से प्रदूषण से निपटने के लिए ठोस कदम और नीति बनाने की मांग की.Also Read - 8 Years Of Modi Government: पीएम मोदी की वह 8 बड़ी योजनाएं जो आम आदमी के लिए वरदान साबित हुई | Watch

इस बैठक में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपानी, छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश भघेल और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी शामिल. बैठक में पीएम मोदी के साथ केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन और कैबिनेट सचिव व स्वास्थ्य सचिव भी मौजूद रहे. Also Read - दिल्ली के प्रगति मैदान में पीएम मोदी ने उड़ाया ड्रोन। Watch Video

महाराष्ट्र मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि कोविड वैक्सीन को लेकर टास्क फोर्स गठित है. उनकी सरकार लगातार आदार पूनावाला के संपर्क में हैं.  कोविड वैक्सीन के स्टोरेज और वितरण की राज्य सरकार तैयारी कर रही है. Also Read - आईपीएल फाइनल देखने पहुंच सकते हैं PM Modi, अहमदाबाद में खेला जाएगा मुकाबला

दिल्ली मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पीएम मोदी से केजरीवाल ने कहा कि तीसरी लहर में 10 नवंबर को दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के 8,600 नए मामले सामने आए थे और उसके बाद से संक्रमण के मामलों की संख्या तथा संक्रमण की दर दोनों में तेजी से कमी आ रही है.

मुख्यमंत्री ने उम्मीद जताई कि राष्ट्रीय राजधानी में यह रूझान जारी रहेगा. सूत्र ने बताया, ‘‘मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण की तीसरी लहर के अधिक गंभीर होने के अनेक कारण हैं. इनमें एक महत्वपूर्ण कारण प्रदूषण है. इसके साथ उन्होंने हाल ही में आई बायो-डिकम्पोजर तकनीक का उल्लेख करते हुए पड़ोसी राज्यों में पराली जलाने के कारण उत्पन्न होने वाले प्रदूषण से निजात दिलाने के लिए प्रधानमंत्री से हस्तक्षेप करने का अनुरोध किया.’’

सूत्रों ने बताया कि प्रधानमंत्री के साथ बैठक में केजरीवाल ने अनुरोध किया कि जब तक शहर में संक्रमण की तीसरी लहर का कहर जारी है तब तक दिल्ली स्थित केंद्र सरकार द्वारा संचालित अस्पतालों में कोरोना वायरस के मरीजों के लिए अतिरिक्त एक हजार आईसीयू बिस्तर आरक्षित किए जाएं. प्रधानमंत्री ने मंगलवार को उन राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक कर कोविड-19 की ताजा स्थिति की समीक्षा की जहां हाल के दिनों में संक्रमण के मामलों में तेजी आई है.