PM Modi On Farm Bills 2020: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने सोमवार को एक बार फिर बिहार में इंफ्रास्ट्रक्चर और परियोजनाओं को लेकर बड़ी घोषणाएं की और 14,000 करोड़ रुपये की राजमार्ग परियोजनाओं की आधारशिला रखी. इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने संसद में पास हुए कृषि विधेयक (Farm Bills 2020) को लेकर भी बात की. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि मैं किसानों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) व किसानों की उपज की सरकारी खरीद जारी रहेगी. Also Read - बिहार में फिर भाषण के दौरान गिरा नेता जी का मंच, समर्थकों के साथ जमीन पर गिरे धड़ाम

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि उनकी सरकार की तरफ से कृषि संबंधी अध्यादेश लाने के बाद कई राज्यों में किसानों को उनकी उपज का पहले से ही बेहतर मूल्य मिल रहा है. उन्होंने कहा कि मैं एक बात स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि ये कानून कृषि मंडियों के खिलाफ नहीं हैं. यह पहले की तरह चलती रहेंगी.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कोरोना वायरस (Coronavirus) के समय के दौरान सरकार ने कृषि उपज की रिकॉर्ड खरीद की है और किसानों को रिकॉर्ड राशि का भुगतान किया गया है.

उन्होंने कहा कि संसद द्वारा पारित कृषि सुधार विधेयक 21वीं के भारत की जरूरत है. इस दौरान पीएम मोदी ने विधेयकों को लेकर उठे हंगामे का जिक्र करते हुए विपक्ष पर हमला भी बोला.

प्रधानमंत्री ने कहा कि ये भी जगजाहिर रहा है कि कृषि व्यापार करने वाले हमारे साथियों के सामने एसेन्शियल कमोडिटी एक्ट के कुछ प्रावधान हमेशा आड़े आते रहे हैं. बदलते हुए समय में इसमें भी बदलाव किया है. दालें, आलू, खाद्य तेल, प्याज जैसी चीजें अब इस एक्ट के दायरे से बाहर कर दी गई हैं. उन्होंने कहा कि अब देश के किसान, बड़े-बड़े स्टोरहाउस में, कोल्ड स्टोरेज में इनका आसानी से भंडारण कर पाएंगे. जब भंडारण से जुड़ी कानूनी दिक्कतें दूर होंगी तो हमारे देश में कोल्ड स्टोरेज का भी नेटवर्क और विकसित होगा, उसका और विस्तार होगा.

उधर, प्रधानमंत्री मोदी ने बिहार विधानसभा चुनाव से पहले सोमवार को राज्य की 14,258 करोड़ रुपये की लागत से तैयार होने वाली नौ राजमार्ग परियोजनाओं का शिलान्यास किया. इसके अलावा उन्होंने बिहार के सभी 45,945 गांवों को इंटरनेट से जोड़ने के लिए ऑप्टिकल फाइबर इंटरनेट सेवाओं का भी उद्घाटन किया. वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से इन परियोजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन करने के बाद मोदी ने कहा आज बिहार की विकास यात्रा का एक और अहम दिन है.

उन्होंने कहा, ‘भारत के गांवों में इंटरनेट का उपयोग करने वालों की संख्या कभी शहरी लोगों से ज्यादा हो जाएगी, ये कुछ साल पहले तक सोचना भी मुश्किल था. गांव की महिलाएं, किसान और गांव के युवा भी इतनी आसानी से इंटरनेट का इस्तेमाल करेंगे, इस पर भी बहुत लोग सवाल उठाते थे, लेकिन अब ये सारी स्थितियां बदल चुकी हैं.’

(इनपुट: भाषा)