नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने शुक्रवार को टेलीफोन पर बातचीत की और इस दौरान दोनों देशों के बीच ”विशेष रणनीतिक साझेदारी” को आगे और मजबूत करने के प्रति प्रतिबद्धता जताई. Also Read - भारत ने Su-30MKI fighter से दागी ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल, जहाज को निशाना बनाया

विदेश मंत्रालय के मुताबिक, पीएम मोदी ने द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने में पुतिन की निजी प्रतिबद्धता के लिए उन्हें धन्यवाद दिया और कहा कि वे आपसी सहमति से तय तिथि के अनुरूप अगले भारत-रूस शिखर सम्मेलन के मद्देनजर उनका भारत में स्वागत करने को लेकर उत्साहित हैं. फोन पुतिन ने किया था. Also Read - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया सरदार पटेल ‘जंगल सफारी’ का उद्घाटन, तोतों से खेलते नजर आए पीएम

विदेश मंत्रालय ने कहा, ”दोनों नेताओं ने भारत और रूस के बीच विशेष रणनीतिक साझेदारी को आगे और मजबूत करने के प्रति प्रतिबद्धता जताई और कोविड-19 महामारी के बावजूद द्विपक्षीय संवाद की गति को बनाए रखने के लिए सराहना की.” Also Read - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत की सेना का पाकिस्तान में खौफ: भाजपा

मंत्रालय ने कहा कि बातचीत के दौरान रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री एस जयशंकर की मॉस्को के हालिया उपयोगी दौरे का भी जिक्र किया. दोनों मंत्रियों ने मॉस्को में शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) की बैठक में हिस्सा लिया था. इस दौरान सिंह और जयशंकर ने अपने रूसी समकक्षों के साथ विस्तृत चर्चा की थी.

विदेश मंत्रालय के मुताबिक मोदी ने इस साल पुतिन को रूस की अध्यक्षता में हुई एससीओ और ब्रिक्स (ब्राजील-रूस-भारत-चीन-दक्षिण अफ्रीका) देशों की बैठक के सफल आयोजन के लिए धन्यवाद दिया.

मंत्रालय ने कहा, ”उन्होंने एससीओ, ब्रिक्स सम्मेलन और भारत की मेजबानी में होने वाले एससीओ देशों के राष्ट्राध्यक्षों की बैठकों में हिस्सा लेने की अपनी उत्सुकता जाहिर की.”

एससीओ और ब्रिक्स देशों का अध्यक्ष होने के नाते रूस इस साल के बाद इन समूहों की बैठकों का आयोजन करेगा जबकि भारत एससीओ राष्ट्राध्यक्षों की परिषद की बैठक की मेजबानी करेगा.

विदेश मंत्रालय ने बताया कि रूसी राष्ट्रपति ने मोदी को उनके जन्मदिन पर शुभकामनाएं दीं और मोदी ने इसके लिए उनका शुक्रिया अदा किया. देश-दुनिया की तमाम हस्तियों ने बृहस्पतिवार को मोदी को उनके 70वें जन्मदिन पर बधाई दी.