असम के सीएम बोले- जो PM मोदी के साथ हुआ, वही मैं सोनिया और राहुल गांधी के साथ करूं तो...

असम के सीएम हेमंत बिस्वा सरमा (Himanta Biswa Sarma) ने PM मोदी की सुरक्षा में चूक को लेकर बयान दिया है.

Published: January 7, 2022 6:56 PM IST

By India.com Hindi News Desk | Edited by Zeeshan Akhtar

Population policy, Assam, Assam govt, Assam CM, Himanta Biswa Sarma, two-child policy
Chief Minister Himanta Biswa Sarma

नई दिल्ली: पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की सुरक्षा में चूक को लेकर बवाल के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है. मामला सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में है. सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले को लेकर सुनवाई की. पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी (Charanjit Singh Channi) कह चुके हैं कि सुरक्षा में कोई चूक नहीं हुई. उन्हें जान का कोई खतरा नहीं था. वहीं, बीजेपी (BJP) ने इसे बड़ी घटना बताया है. अब असम के सीएम हेमंत बिस्वा सरमा (Himanta Biswa Sarma) ने इसे लेकर बयान दिया है.

Also Read:

सीएम हेमंत बिस्वा सरमा ने कहा कि पंजाब में कांग्रेस (Congress) ने इस मामले को लेकर कोई कार्रवाई नहीं की. कांग्रेस इस पूरे मामले को संस्थागत बनाना चाहती है. अगर सोनिया गांधी और राहुल गांधी असम आते हैं. और उनके साथ भी मैं वही करूं तो क्या ठीक रहेगा. क्या ये स्वीकार्य होगा? कार्रवाई न करके कांग्रेस इस मामले (पीएम मोदी की सुरक्षा में सेंध) को संस्थागत बनाना चाहती है. अगर राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) असम आते हैं और मैं वही काम करता हूं, तो क्या यह स्वीकार्य होगा? अगर वे यहां आते हैं, तो मैं जैसे के लिए तैसा नहीं करूंगा: असम के सीएम हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा कि अगर वे यहां आते हैं, तो मैं जैसे के लिए तैसा नहीं करूंगा.

सीएम हिमंत बिस्वा सरमा के अलावा केंद्र सरकार और बीजेपी नेता कांग्रेस पर हमलावर हैं. साथ ही बीजेपी नेता जगह-जगह पीएम मोदी की सलामती के लिए हवन भी कर रहे हैं. इस बीच केंद्र का एक दल शुक्रवार को फिरोजपुर पहुंचा, जबकि राज्य की ओर से केंद्र को सौंपी गई एक रिपोर्ट में कहा गया है कि घटना के सिलसिले में प्राथमिकी दर्ज की गई है. सूत्रों ने बताया कि केंद्र की तीन सदस्यीय समिति प्रधानमंत्री के 5 जनवरी के दौरे के घटनाक्रम के बारे में पूरी जानकारी हासिल कर रही है. यह दल पहले फिरोजपुर के पास प्यारेयाना फ्लाईओवर पहुंचा और पंजाब पुलिस और प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बातचीत की. जांच दल ने मामले में पूछताछ और जांच के लिए सीमा सुरक्षा बल के क्षेत्रीय मुख्यालय जाने से पहले फ्लाईओवर पर करीब 45 मिनट बिताए.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें देश की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date: January 7, 2022 6:56 PM IST