नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गणतंत्र दिवस के मौके पर रंग-बिरंगा साफा पहनने के अपने अंदाज को बरकरार रखते हुए शनिवार को केसरिया रंग के खूबसूरत साफे में नजर आए. पारंपरिक कुर्ता पायजामा एवं नेहरू जैकेट पहने मोदी ने गणतंत्र दिवस परेड के लिए जाने से पहले अमर जवान ज्योति पर शहीदों को श्रद्धांजलि दी. दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा इस समारोह के मुख्य अतिथि रहे. राजपथ पहुंचने से पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और तीनों सेना प्रमुखों के साथ अमर जवान ज्योति पर शहीदों को श्रद्धांजलि दी उसके बाद राजपथ पर परेड का आनंद उठाया और दुनिया को देश की ताकत दिखाई.

गणतंत्र दिवस 2019: हिंदी में देखें 26 जनवरी के शुभकामना संदेश, Whatsapp और Facebook पोस्ट


पोशाकों का खास आकर्षण
साफे स्वतंत्र दिवस एवं गणतंत्र दिवस कार्यक्रमों में प्रधानमंत्री मोदी द्वारा पहने जाने वाली पोशाकों का खास आकर्षण रहे हैं. प्रधानमंत्री के तौर पर 2014 में स्वतंत्रता दिवस के अपने पहले संबोधन के दौरान मोदी ने चमकीले लाल रंग का जोधपुरी बंधेज साफा पहना था. कच्छ से बन कर आये चमकीले लाल बांधनी साफे से लेकर पीले रंग के राजस्थानी ‘साफे’ तक मोदी गणतंत्र दिवस के मौकों पर भी विभिन्न रंग के साफों में नजर आए हैं. इस साल गणतंत्र दिवस की थीम महात्मा गांधी की 150वीं जयंती से जुड़ी है और कई राज्यों की झाकियां राष्ट्रपिता पर हैं. पीएम ने राजपथ पहुंच कर राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद और मुख्य अतिथि की अगवानी एवं उनका स्वागत किया. ध्वजारोहण के दौरान बैंड ने राष्ट्रगान बजाया और 21 तोपों की सलामी दी गई. इसी के साथ तिरंगा भी फहराया गया.

आतंकी से आर्मी ऑफिसर बने नजीर वानी को मरणोपरांत मिला अशोक्र चक्र सम्मान, शहादत को देश का सलाम