गुवाहाटी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को गुवाहाटी पहुंचे. इस दौरान उन्होंने कहा कि मैं राज्य और मुख्यमंत्री को बधाई देना चाहूंगा कि यहां हर घर में बिजली पहुंचा दी गई है. ‘सौभाग्य योजना’ पर राज्य सरकार बहुत अच्छा काम किया है. उन्होंने कहा कि जो अरुणाचल प्रदेश ने आज हासिल किया है, जल्द ही उसे पूरा देश हासिल कर लेगा. इससे पहले उन्होंने ईटानगर में डीडी अरुण प्रभा चैनल, उन्नत तेजू हवाईअड्डे, 110 मेगावाट पारे हाइड्रोइलेक्ट्रिक परियोजना, 50 स्वास्थ्य केंद्रों का उद्घाटन किया. बता दें कि इससे पहले आसू सदस्यों ने गुवाहाटी विश्वविद्यालय के गेट पर प्रधानमंत्री को उस समय काले झंडे दिखाए जब वह लोकप्रिय गोपीनाथ बारदोलोई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा से शाम करीब साढ़े छह बजे राजभवन की ओर जा रहे थे.

ऑल असम स्टूडेंट यूनियन (आसू) और 70 सामाजिक संगठनों ने नागरिकता संशोधन विधेयक के विरोध में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की यात्रा के दौरान उन्हें काला झंडा दिखाने और आंदोलन करने की घोषणा की थी. विवादास्पद विधेयक के खिलाफ प्रदर्शन की अगुवाई कर रहे कृषक मुक्ति संग्राम समिति (केएमएसएस) प्रमुख अखिल गोगोई ने कहा कि शनिवार को यहां मोदी के होने वाले दौरे को पूरे राज्य में ‘काला दिवस’ के तौर पर मनाया जाएगा और 70 संगठनों के सदस्य उन्हें काला झंडा दिखाएंगे.

वोट पाने के लिए विधेयक
गोगोई ने कहा, विधेयक बांग्लादेश से आये हिन्दू बंगालियों को नागरिकता देने और 2019 के लोकसभा चुनाव में उनका वोट पाने के लिए लाया गया है. केएमएसएस नेता ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की देश में स्थिति ठीक नहीं है और उनकी रणनीति पश्चिम बंगाल और पूर्वोत्तर से अधिकतम सीटें जीतने की है. उन्होंने कहा कि इसलिए भाजपा ने नागरिकता संशोधन विधेयक की राह चुनी.

मोदी के जलाए गए पुतले
आसू के प्रमुख सलाहकार समुज्जल भट्टाचार्य ने बताया कि उनके संगठन ने शुक्रवार को राज्य के विभिन्न हिस्सों में मोदी के पुतले जलाए. लोकसभा में आठ जनवरी को नागरिकता संशोधन विधेयक 2019 पारित किये जाने के बाद मोदी पहली बार असम के दौरे पर आ रहे हैं.