नई दिल्‍ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने PM Modi in Lok Sabha गुरुवार को लोकसभा में राष्‍ट्रपति के अभिभाषण के धन्‍यवाद प्रस्‍ताव पर में कश्‍मीर और धारा 370 के मुद्दे पर कांग्रेस, नेशनल कॉन्‍फ्रेस के नेता फारुख अब्‍दुल्‍ला, उमर अब्‍दुल्‍ला, पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती पर जमकर हमला बोला. पीएम मोदी ने कहा, कांग्रेस के समय हिंदुस्तान की क्या स्थिति थी, लोगों के अधिकार की स्थिति क्या थी, ये मैं इनसे पूछना चाहता हूं. अगर ये लोग मानते कि संविधान इतना महत्वपूर्ण है तो, हिंदुस्तान के संविधान को जम्मू कश्मीर में लागू करने से इन्हें किसने रोका था.

शशि थरूर जी जम्मू-कश्मीर के दामाद रहे हैं, आपको चिंता दिखानी चाहिए
लोकसभा में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, जो लोग संविधान के सम्मान की बात कर रहे हैं, उन्होंने जम्मू-कश्मीर में इसे इतने दशकों तक लागू नहीं किया. शशि थरूर जी आप जम्मू-कश्मीर के दामाद रहे हैं, आपको चिंता दिखानी चाहिए.

कश्मीर भारत का मुकुटमणि है, कश्मीर की पहचान सूफी परंपरा और सर्व पंथ समभाव की
पीएम मोदी ने कहा, कश्मीर भारत का मुकुटमणि है. कश्मीर की पहचान बम, बंदूक और अलगाववाद की बना दी गई थी.19 जनवरी 1990 की वो काली रात को कुछ लोगों ने कश्मीर की पहचान को दफना दिया था. कश्मीर की पहचान सूफी परंपरा और सर्व पंथ समभाव की है.

महबूबा मुफ्ती जी ने कहा था कि भारत ने कश्मीर के साथ धोखा किया है
पीएम मोदी ने कहा, ”महबूबा मुफ्ती जी ने कहा था कि भारत ने कश्मीर के साथ धोखा किया है. हमने जिस देश के साथ रहने का फैसला किया था, उसने हमें धोखा दिया है. ऐसा लगता है कि हमने 1947 में गलत चुनाव कर लिया था.”

संविधान को मानने वाले लोग ऐसी बात को स्वीकार कर सकते हैं क्या?
उमर अब्दुल्ला ने कहा था कि अनुच्छेद 370 को हटाना ऐसा भूकंप लाएगा कि कश्मीर भारत से अलग हो जाएगा. संविधान को मानने वाले लोग ऐसी बात को स्वीकार कर सकते हैं क्या? उमर अब्दुल्ला ने कहा था कि अनुच्छेद 370 को हटाना ऐसा भूकंप लाएगा कि कश्मीर भारत से अलग हो जाएगा.

फारुख अब्दुल्ला ने कहा था 370 को हटना कश्मीर की आजादी का मार्ग प्रशस्त करेगा
पीएम मोदी ने लोकसभा में कहा, फारुख अब्दुल्ला ने कहा था 370 को हटना कश्मीर के लोगों की आजादी का मार्ग प्रशस्त करेगा. क्या ऐसी बातों को कोई स्वीकार कर सकता है क्या?

हम इन लोगों को शांति को बाधित करने की अनुमति नहीं दे सकते
पीएम मोदी ने कहा, ये लोग निरस्तीकरण पर सवाल उठा रहे हैं क्योंकि वे कश्मीर के लोगों पर विश्वास नहीं करते हैं. हमने धारा 370 को निरस्त कर दिया, क्योंकि हम कश्मीर के लोगों पर विश्वास करते हैं. आज, हम इस क्षेत्र में विकास को गति दे रहे हैं. हम इन लोगों को किसी भी क्षेत्र में शांति को बाधित करने की अनुमति नहीं दे सकते.

लद्दाख को भी कार्बन न्यूट्रल इकाई के रूप में विकसित करेंगे
पीएम ने कहा कि लद्दाख के लिए मेरे मन में चित्र साफ है. इसलिए हम चाहते हैं कि जिस प्रकार भूटान की प्रशंसा होती है, हम संकल्प लेते हैं कि हम लद्दाख को भी कार्बन न्यूट्रल इकाई के रूप में विकसित करेंगे.

हिंदुस्तान में लकीर खींची गई और बंटवारा कर दिया गया
देश ने देख लिया है कि दल के लिए कौन है और देश के लिए कौन है. जब बात निकली है तो दूर तलक जानी चाहिए. किसी को प्रधानमंत्री बनना था, इसलिए हिंदुस्तान में लकीर खींची गई और हिंदुस्तान का बंटवारा कर दिया गया.

क्या पंडित नेहरू सांप्रदायिक थे? क्या वह हिंदू राष्ट्र चाहते थे?
लोकसभा में पीएम मोदी ने कहा, पंडित नेहरू स्वयं पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों की रक्षा के पक्ष में थे, मैं कांग्रेस से पूछना चाहता हूं,  क्या पंडित नेहरू सांप्रदायिक थे? क्या वह हिंदू राष्ट्र चाहते थे?