नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को अपने चेहरे के हमेशा चमकते रहने के राज से पर्दा उठाया है. राष्ट्रीय बाल पुरस्कार हासिल करने वाले बच्चों से संवाद के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ”मेहनत करता हूं, उससे काफी पसीना निकलता है और उसी पसीने को चेहरे पर मालिश करता हूं, इससे वह चमकता है.” यह बात प्रधानमंत्री मोदी ने Rashtriya Bal Puraskar 2020 के दौरान बच्‍चों से बातचीत के दौरान कही है.

मोदी ने कहा कि एक बार किसी ने उनसे बहुत साल पहले पूछा था कि उनके चेहरे पर इतना तेज क्यों है? उन्होंने कहा, ”मैंने बड़ा आसान जवाब दिया था. मैंने कहा कि मेरे शरीर से इतना पसीना निकलता है… मेहनत करता हूं … उसी पसीने से चेहरे पर मालिश करता हूं, इससे वह चमक जाता है.”

शारीरिक श्रम के महत्व को बताते हुए पीएम मोदी ने कहा कि एक बालक भी ऐसा नहीं होना चाहिए, जिसे दिन में चार बार पसीना न आए. उन्होंने बच्चों को खड़े खड़े नहीं बल्कि बैठकर पानी पीने की सलाह दी. उन्होंने कहा कि पानी का अपना स्वाद होता है और इसे जूस की तरह से आनंद लेकर पीना चाहिए . इससे शरीर को फायदा होता है.

प्रधानमंत्री ने बच्चों से कहा कि कई बार ऐसा होता होगा कि आप दूध को झट से दवा की तरह पी जाते हैं, क्योंकि मां कहती है कि जल्दी से पी जाओ.

मोदी ने कहा, ”कभी-कभी तो मां दूध लेकर आती है और कोई काम है या टीवी सीरियल चल रहा है तो मां कहती है कि जल्दी जल्दी दूध पी ले और आप भी दूध दवाई की तरह पी लेते हैं, क्योंकि मां को सीरियल देखने बैठना है. उन्होंने कहा कि कौन सा (सीरियल)?.. ‘सास भी कभी बहू थी’. इस दौरान बच्चों ने ठहाके भी लगाए.

इस दौरान बच्चों के साथ महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी भी मौजूद थी. ईरानी ने टीवी सीरियल ‘सास भी कभी बहू थी’ में अभिनय किया था.