नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज सक्रिय प्रशासन और विभिन्न परियोजनाओं के सामयिक क्रियान्वयन की समीक्षा के लिये 32वीं ‘प्रगति’ बैठक की अध्यक्षता करेंगे. प्रगति सूचना एवं संचार प्रौद्योगिकी आधारित एक बहुउद्देश्यीय मंच है. एक आधिकारिक बयान के मुताबिक ‘प्रगति’ के पिछले संवादों के दौरान प्रधानमंत्री ने 12 लाख करोड़ रुपये से अधिक की लागत वाली परियोजनाओं की समीक्षा की. Also Read - सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की मांग- पीएम केयर्स फंड को जनता केयर फंड बनाया जाए, क्योंकि...

इसमें कहा गया कि 2019 में 16 राज्यों तथा जम्मू एवं कश्मीर केन्द्र शासित प्रदेश से संबंधित 61,000 करोड़ रुपये से अधिक की नौ परियोजनाओं पर चर्चा की गई थी. बयान में कहा गया कि बैठक में विदेशों में काम करने वाले भारतीय नागरिकों की शिकायतों, राष्ट्रीय कृषि बाजार, आकांक्षी जनपद कार्यक्रम और अवसंरचना विकास कार्यक्रमों व पहलों जैसे विभिन्न विषयों पर भी चर्चा की गई थी.

इसके मुताबिक प्रधानमंत्री ने मार्च, 2015 को बहुउद्देश्यीय और बहुविषयक शासन मंच ‘प्रगति’ की शुरुआत की थी. ‘प्रगति’ के जरिए भारत सरकार के महत्वपूर्ण कार्यक्रमों और परियोजनाओं तथा विभिन्न राज्य सरकारों द्वारा शुरू की जाने वाली परियोजनाओं की निगरानी और समीक्षा में मदद मिलती है.