PM Modi In Varanasi: देव दीपावली (Dev Diwali 2020) के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) आज काशी पहुंच रहे हैं. देश में जारी कोरोना संकट के बीच प्रधानमंत्री मोदी का वाराणसी का यह पहला दौरा है. इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी काशी और प्रयागराज (Varanasi-Prayagraj Highway) को 72.64 किलोमीटर हाईवे की सौगात देंगे. इस राजमार्ग को बनाने में NHAI ने 2447 करोड़ रुपये खर्च किया है. यह सड़क काशी में 20 किमी, भदोही में 35.64 किमी इलाहाबाद में 15 किमी और 2 किलोमीटर मिर्जापुर में है. यह सड़क पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी की महत्वाकांक्षी योजना ‘स्वर्णिम चतुर्भुज योजना’ के तहत कोलकाता से दिल्ली को जोड़ने वाली 1465 किमी की हिस्सा है. Also Read - सूरत हादसे में मारे गए प्रवासी मजदूरों के परिजनों को दो-दो लाख का मुआवजा, पीएम ने जताया शोक

क्या है प्रधानमंत्री मोदी का कार्यक्रम
बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी के सभी कार्यक्रमों के दौरान प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उनके साथ रहेंगे. राज्‍य सरकार की ओर से जारी बयान में प्रधानमंत्री के कार्यक्रम की जानकारी दी गई. जानकारी के मुताबिक दौरे में प्रधानमंत्री देव दीपावली महोत्‍सव में शामिल होंगे तथा लेजर शो भी देखेंगे. प्रधानमंत्री सारनाथ पुरातत्व परिसर में लाइट एंड साउंड शो का अवलोकन करेंगे. इस बीच वह राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-2 के हण्डिया-राजा तालाब खंड का 6-लेन चौड़ीकरण कार्य राष्ट्र को समर्पित करेंगे. वे श्री काशी विश्वनाथ मन्दिर धाम परियोजना स्थल भी जाएंगे. Also Read - PM मोदी को सोमनाथ मंदिर न्यास का अध्यक्ष बनाया गया, अमित शाह ने रखा था प्रस्‍ताव

प्रोटोकॉल के मुताबिक प्रधानमंत्री मोदी सोमवार को 2.10 बजे बाबतपुर एयरपोर्ट पहुचेंगे. यहां से सेना के हेलीकॉप्टर द्वारा खजूरी जनसभा स्थल पहुंचेंगे जहां प्रयागराज- वाराणसी सिक्सलेन का लोकार्पण कर वह जनसभा को संबोधित करेंगे. इसमें बताया गया है कि वहां से हेलीकॉप्टर से वह डोमरी जाएंगे और इसके बाद सड़क मार्ग से भगवान अवधूत राम घाट जाएंगे जहां से क्रूज पर सवार होकर ललिता घाट पहुचेंगे. Also Read - दिग्विजय सिंह ने राम मंदिर निर्माण के लिए दान किए 111111 रुपये, मोदी को पत्र लिखकर मांगा विहिप द्वारा जुटाए गए चंदे का हिसाब

इसके बाद उनका काफिला विश्वनाथ मंदिर आएगा जहां वह दर्शन पूजन कर कॉरिडोर के विकास कार्यों का स्थलीय निरीक्षण करेंगे. कार्यक्रम के अनुसार वह क्रूज से वापस राजघाट पहुंचेंगे और शाम पांच बजे दीप जलाकर दीपोत्सव की शुरुआत करेंगे और पावन पथ वेबसाइट का लोकार्पण करेंगे. इस वर्ष पहली बार गंगापार में दीपदान के साथ-साथ कुल 15 लाख दीपक जलाए जाएंगे. 15 प्रमुख घाटों पर संस्कृति विभाग की ओर से सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित होंगे.

प्रधानमंत्री मोदी 5.45 बजे क्रूज से रविदास घाट के लिए रवाना होंगे और चेतसिंह घाट पर 10 मिनट का लेजर शो देखेंगे. रविदास घाट पहुंच कर वह कार से सारनाथ के लिए रवाना हो जाएंगे और यहां लाइट एंड साउंड शो देखेंगे और 8.15 बजे बाबतपुर एयरपोर्ट से दिल्ली वापस लौट जाएंगे.

(इनपुट: भाषा)